कलाई में राखी, माथे पर तिलक, मिसाल बने मन्नान

0 84

नई दिल्ली , अपने तो दिल में बस एक ही अरमान, एक थाली में खाना खाए सारा हिदुस्तान! जी हां, अनेकता में एकता और विभिन्न भाषा व धर्म के बावजूद अखंड भारत पूरे विश्व को आश्चर्य चकित करता है। हिदू-मुस्लिम के बीच कई मुद्दों पर मतभेद के बावजूद भी तमाम लोग ऐसे है जो गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश कर समाज को नया संदेश दे रहे हैं। सदर तहसील के लक्ष्मीपुर देउरवा निवासी मन्नान सिद्दीकी हिदू व मुस्लिम दोनों समाज को एकता के धागे में पिरो कर आधुनिक भारत के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर रहे है।

 

सदर क्षेत्र के लक्ष्मीपुर देऊरवा निवासी मन्नान सिद्दीकी मुस्लिम धर्म का सच्चे मन से निर्वहन करते हैं, तो साथ मे हिदू धर्म के प्रति भी आस्था रखते है। रक्षाबंधन के दिन मन्नान सिद्दीकी ने हिदू बहनों से कलाई पर राखी बंधवाकर धागों से रिश्तों की डोर को मजबूत किया। मन्नान के हिदू पर्व के प्रति निष्ठा क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गई है। समाज के बुद्धजीवी मन्नान के रक्षाबंधन बंधवाने व हिदू बहनों के रक्षा के संकल्प की प्रंशसा कर रहे हैं। रक्षाबंधन के दिन मन्नान ने हिदू बहनों से तिलक लगवाया, रक्षाबंधन भी बंधवाया, मिठाई खाया और उनको उपहार भी भेंट किया। मन्नान स्नातक की शिक्षा ग्रहण किए हैं और वह हिदू धर्म का काफी आदर करते है। मन्नान गीता भी पढ़ते हैं और उन्होंने कुम्भ में स्नान कर सर्व समाज के कल्याण की कामना भी की। मन्नान हिदू धर्म के सभी त्योहारों में शामिल होते हैं।