गुजरात ने की चेन्नई के रिकॉर्ड की बराबरी

0 19

गुजरात टाइटंस ने जीत के अपने इस लय को शनिवार को भी बरकरार रखा और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को छह विकेट से हराकर शुरुआती नौ मैचों में आठवीं जीत हासिल की। वहीं, गुजरात ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया।

आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस ने एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया है, जो किसी भी सीजन में किसी भी टीम ने हासिल नहीं किया था। टीम शुरुआती आठ मैच खेलकर सात मैच जीतने वाली पहली टीम है। इससे पहले किसी भी टीम ने आठ मैच खेलने के बाद इतने मैच नहीं जीते थे। इससे पहले यह रिकॉर्ड राजस्थान रॉयल्स और गुजरात लायंस के नाम था। राजस्थान ने 2008 में और गुजरात लायंस ने 2016 में शुरुआती आठ मैच खेलने के बाद छह-छह मैच जीते थे।
गुजरात टाइटंस ने जीत के अपने इस लय को शनिवार को भी बरकरार रखा और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को छह विकेट से हराकर शुरुआती नौ मैचों में आठवीं जीत हासिल की। वहीं, गुजरात ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया। टीम ने किसी एक सीजन में लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिरी ओवर में सबसे ज्यादा जीत के मामले में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के रिकॉर्ड की बराबरी की।

चेन्नई ने 2018 में और राजस्थान ने 2019 में लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिरी ओवर में पांच मैच जीते थे। गुजरात की टीम भी इस सीजन इतने ही मैच जीत चुकी है। अभी उसे ग्रुप स्टेज में पांच मैच और खेलने हैं और फिर प्लेऑफ भी खेलना है। जिस तरह के फॉर्म में टीम है, वह चेन्नई और राजस्थान के रिकॉर्ड को तोड़ सकती है।

बैंगलोर के खिलाफ इस सीजन 10 मैचों में पांचवीं बार 50 प्लस रन की ओपनिंग पार्टनरशिप हुई। यह इस मामले में सबसे ज्यादा है। किसी और टीम ने तीन बार से ज्यादा 50 प्लस रन की ओपनिंग पार्टनरशिप नहीं होने दी है। बैंगलोर की टीम के नाम एक और खराब रिकॉर्ड जुड़ गया। डुप्लेसिस मैच में शून्य पर आउट हुए।

यह इस सीजन उनकी टीम के लिए टॉप-तीन बल्लेबाजों द्वारा बनाया गया छठा शून्य का स्कोर था, जो कि बाकी टीमों की तुलना में सबसे ज्यादा है। इस दौरान अनुज रावत तीन बार, कोहली दो बार और डुप्लेसिस एक बार शून्य पर आउट हो चुके हैं। कोहली ने भले ही 53 गेंदों पर 58 रन की पारी खेल फॉर्म में वापसी के संकेत दिए हों, लेकिन यह आईपीएल में उनके द्वारा 50 से ऊपर रन बनाने पर खेली गई सबसे धीमी पारी थी।

कोहली ने गुजरात के खिलाफ 109.43 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की। वहीं, इससे पहले उन्होंने 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के खिलाफ 114.58 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की थी। तब उन्होंने 48 गेंदों पर 55 रन बनाए थे। कोहली की यह इस सीजन में पहली फिफ्टी रही। वहीं, ओवरऑल उन्होंने आईपीएल में अपना 43वां अर्धशतक जड़ा।