अतिक्रमण के खिलाफ बुलडोजर चलाने से दिल्ली MCD को किसने रोका?

0 29

जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने के लिए दिल्ली पुलिस ने जहां मात्र एक दिन के नोटिस पर 400 से ज्यादा पुलिसकर्मी उपलब्ध करा दिए थे। वहीं अब शाहीन बाग और ओखला में कार्रवाई की बारी आई तो पुलिस ने दस दिन-दिन का पेच फंसा दिया है। पुलिस ने कहा कि कार्रवाई से दस दिन पहले सूचना देने पर ही पुलिस फोर्स मुहैया कराया जाएगा।

नई दिल्ली (डीएन24 संवाददाता)। बाहरी दिल्ली के जहांगीरपुरी  इलाके के बाद दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग और ओखला में अतिक्रमण के खिलाफ बड़ी कार्रवाई से दिल्ली नगर निगम को कौन रोक रहा है? इस मामले पर नगर निगम की ओर से सात दिन से केवल जुबानी जमा खर्च ही किया जा रहा है। इससे अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई को लेकर निगम की मंशा पर ही अब सवाल उठने लगे हैं।

यहां पर बता दें कि जहांगीरपुरी में 16 अप्रैल को हनुमान जन्मोत्सव की शोभा यात्रा के दौरान उपद्रवियों ने हमला बोल दिया था। इसके बाद यहां पर निगम ने 20 अप्रैल को अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की थी। यह पहली बार था कि अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई में न केवल महापौर और निगमायुक्त मौजूद थे, बल्कि सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। कयास लगाए जा रहे थे कि अब अन्य इलाकों में भी अतिक्रमण के खिलाफ निगम का बुलडोजर दौड़ेगा। 21 अप्रैल को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने पूर्वी और दक्षिणी निगम के महापौर को भी पत्र लिखकर कार्रवाई का आग्रह किया था। इसके बाद निगमों ने भी बड़ी कार्रवाई करने का दावा किया था, पर अब तक कुछ खास नहीं किया गया है।

सूत्रों के मुताबिक, दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सुर्यान ने 22 अप्रैल को ही निगमायुक्त ज्ञानेश भारती को पत्र लिखकर ओखला और शाहीन बाग से विभिन्न इलाकों में अतिक्रमण पर बड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। जब कार्रवाई नहीं हुई तो 27 अप्रैल को महापौर ने खुद जैतपुर, सरिता विहार और मदनपुर खादर का दौरा किया। इसके बाद कार्रवाई का अंदेशा भी था, पर पुलिस बल हि नहीं मिला।

उपद्रव के बाद जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने के लिए दिल्ली पुलिस ने जहां मात्र एक दिन के नोटिस पर 400 से ज्यादा पुलिसकर्मी उपलब्ध करा दिए थे। वहीं अब शाहीन बाग और ओखला में कार्रवाई की बारी आई तो पुलिस ने दस दिन दिन का पेच फंसा दिया है। पुलिस ने कहा कि कार्रवाई से दस दिन पहले सूचना देने पर ही पुलिस फोर्स मुहैया कराया जाएगा।

  •  16 अप्रैल: जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव की शोभा यात्र पर उपद्रवियों ने हमला बोला
  •  19 अप्रैल: निगम ने अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के लिए पुलिस मांगी, लेकिन 19 को नहीं मिली
  • 20 अप्रैल: निगम का दस्ता सुरक्षा बलों के साथ अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने जहांगीरपुरी पहुंच गया और अतिक्रमण हटाया
  •  20 अप्रैल: सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरपुरी में यथास्थिति बनाने के आदेश दे दिए, जिससे कार्रवाई रोक दी गई
  •  21 अप्रैल: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दक्षिणी और पूर्वी निगम के महापौर को पत्र लिखकर रो¨हग्या और बाग्लादेशी घुसपैठियों के कब्जे वाले स्थान को अतिक्रमण मुक्त करने की मांग उठाई
  • 22 अप्रैल: दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सुर्यान ने निगमायुक्त ज्ञानेश भारती को पत्र लिखकर ओखला और शाहीन बाग समेत अन्य इलाकों में कार्रवाई के लिए कहा
  • 27 अप्रैल: महापौर मुकेश सुर्यान ने सरिता विहार, जैतपुर और मदनपुर खादर वार्ड का निरीक्षण कर अतिक्रमण को चिह्नित कर कार्रवाई के आदेश दिए
  • 28 अप्रैल: दक्षिणी निगम ने सरिता विहार इलाके में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के लिए पुलिस मांगी, लेकिन पुलिस बल नहीं मिल सका
  • 28 अप्रैल: दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सुर्यान ने चारों जोन के उपायुक्त और जोन चेयरमैन के साथ बैठक कर अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई तेज करने के निर्देश दिए