कौन हैं महिला CEO सूचना सेठ? जिसपर अपने ही चार साल के बेटे की हत्या करके बैग में पैक करने का लगा आरोप

13

बेंगलुरु स्थित एआई स्टार्टअप की सीईओ सूचना सेठ की ओर से एक ऐसे आपराधिक घटना को अंजाम देने का आरोप लगा है जिसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है. दरअसल, गोवा सर्विस अपार्टमेंट में अपने चार साल के बेटे की कथित तौर पर हत्या करने का आरोप सूचना पर लग है जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. मामले पर पुलिस का बयान सामने आया है. पुलिस ने बताया कि, महिला अपने पति के साथ अलग रहने को लेकर परेशान थी. उसने एक बैग में बच्चे के शव को भरकर कैब में भागने की कोशिश, हालांकि उसे पकड़ लिया गया है. आरोपी ने शनिवार को उत्तरी गोवा के कैंडोलिम में एक लक्जरी अपार्टमेंट में चेक इन किया था और सोमवार सुबह चेक आउट किया. इस बीच लोग सुचना सेठ के बारे में जानना चाह रहे हैं और गूगल में उसके बारे में सर्च कर रहे हैं. तो आइए हम आपको बताते हैं कौन है सूचना सेठ

कौन हैं सुचना सेठ?

-अंग्रेजी वेबसाइट एनडी टीवी ने जो खबर प्रकाशित की है उसके अनुसार, सूचना सेठ द माइंडफुल एआई लैब की संस्थापक हैं. वह चार वर्षों से अधिक समय से इस कंपनी को लीड कर रहीं हैं, जो in artificial intelligence के लिए काम करजी है.

-सूचना सेठ ने दो साल तक बर्कमैन क्लेन सेंटर में एक सहयोगी के रूप में काम किया. साथ ही बोस्टन, मैसाचुसेट्स में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रिस्पॉन्सिबल मशीन लर्निंग के लिए कंट्रीब्यूट किया.

-द माइंडफुल एआई लैब की स्थापना करने से पहले, सूचना सेठ बैंगलोर में बूमरैंग कॉमर्स में डेटा साइंटिस्ट थीं. इस दौरान उन्होंने दो पेटेंट दाखिल किये थे. वह इनोवेशन लैब्स से भी जुड़ी थीं. सेठ कंपनी के डेटा साइंसेज ग्रुप में analytics consultant सलाहकार के रूप में कार्यरत थीं.

-सेठ के पास कलकत्ता विश्वविद्यालय से Physics specialising की मास्टर डिग्री है. यहां उन्होंने 2008 में फस्ट क्लास सम्मान हासिल किया.

-सेठ के पास रामकृष्ण मिशन इंस्टीट्यूट ऑफ कल्चर से फस्ट रैंक के साथ संस्कृत में स्नातकोत्तर डिप्लोमा और कोलकाता के भवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी कॉलेज से प्रथम श्रेणी सम्मान के साथ फिजिक्स (ऑनर्स) में स्नातक की डिग्री है.

क्या है मामला

39 वर्षीय महिला जो स्टार्टअप की संस्थापक और सीईओ हैं, उसपर उत्तरी गोवा के कैंडोलिम में एक सर्विस अपार्टमेंट में अपने चार वर्षीय बेटे की हत्या करने का आरोप लगा है. इतना ही नहीं उसपर बच्चे के शव को बैग में रखकर गोवा से कर्नाटक वापस जाने के लिए टैक्सी किराए पर लेने का आरोप भी लगाया गया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वह बच्चे को पिता से नहीं मिलने देना चाहती थी. इस वजह से यह खौफनाक कदम उठाया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.