मध्य प्रदेश में कौन होगा बीजेपी का सीएम पद का उम्मीदवार? आंतरिक कलह पर क्या बोले शिवराज

8

मध्य प्रदेश में साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होना है. इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस सहित तमाम पार्टियों ने कमर कस ली है. इधर खबर है कि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को लेकर बीजेपी में आंतरिक कलह शुरू हो गयी है. हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस तरह की खबर का खंडन किया है.

पार्टी के अंदर कोई आंतरिक कलह नहीं : शिवराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दावा किया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आगामी विधानसभा चुनावों के लिए एकजुट होकर काम कर रही है और पार्टी के भीतर कोई ‘आंतरिक कलह’ नहीं है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के 2020 में भाजपा में शामिल होने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, सिंधिया जी के साथ आए लोग दूध में चीनी की तरह हमारी पार्टी में मिल गए हैं. मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि भाजपा मध्य प्रदेश में एकजुट होकर काम कर रही है.

भाजपा बंटी हुई है या नहीं, इस सवाल के जवाब में क्या बोले शिवराज

मध्य प्रदेश में भाजपा बंटी हुई है या नहीं, इस सवाल के जवाब में शिवराज सिंह चौहान ने कहा, बेशक, नेता अपनी प्राथमिकताओं के अनुसार अलग-अलग काम करते हैं. यहां तक कि एक परिवार में दो भाइयों के काम करने का तरीका भी अलग-अलग होता है.

पार्टी तय करेगी मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार

टीवी शो ‘आप की अदालत’ कार्यक्रम में सवालों का जवाब देते हुए चौहान ने कहा कि उनकी पार्टी इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तय करेगी. पार्टी मुख्यमंत्री बनाएगी. जनता मुख्यमंत्री बनाएगी. बातचीत के दौरान चौहान ने बताया कि कैसे उन्हें 2005 में मुख्यमंत्री बनाया गया था, जब वह संसद सदस्य थे और दिल्ली में रहते थे.

शिवराज ने बताया, क्यों बने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, मैं मुख्यमंत्री इसलिए बना, क्योंकि पार्टी चाहती थी और मुझे लोगों का आशीर्वाद प्राप्त था. 2005 में, जब मैं पहली बार मुख्यमंत्री बना, तो मुझे नहीं पता था कि मुझे चुना गया है. भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक हो रही थी और मैं सांसद के तौर पर दिल्ली के पंडित पंत मार्ग स्थित आवास में था. उन्होंने याद करते हुए कहा, अचानक मेरी पत्नी ने मुझे जगाया और बताया कि टीवी चैनल ब्रेकिंग न्यूज चला रहे हैं कि मुझे मुख्यमंत्री चुना गया है. मैंने उससे कहा कि दिन में सपने देखना छोड़ दो. इसके तुरंत बाद, दरवाजे की घंटी बजी और भूपेंद्र सिंह हुड्डा मुझे बधाई देने के लिए खड़े थे. वह मेरे पड़ोसी थे. चौहान ने कहा कि इसके तुरंत बाद भाजपा के संगठन सचिव का फोन आया और ‘उन्होंने मुझे तत्काल कार्यालय आने को कहा, जहां मुझे बताया गया कि मुझे मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी दी गई है’.

मध्य प्रदेश इकाई के तीन गुट, ‘नाराज’, ‘महाराज’ और ‘शिवराज’

भाजपा की मध्य प्रदेश इकाई के तीन गुटों- ‘नाराज’, ‘महाराज’ (ग्वालियर के शाही परिवार के वंशज सिंधिया) और ‘शिवराज’ की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, कांग्रेस के साथ दिक्कत यह है कि जब हमारी पार्टी मिलकर काम करती है, तो उनकी रातों की नींद भी उड़ जाती है. उन्होंने कहा, उनके सपने में भी हम दिखाई देते हैं. जैसे बैल को लाल कपड़े दिखाओ तो वह भड़क जाता है, वैसे ही सपने में भी…कमलनाथ और दिग्विजय सिंह…नींद में भी कई बार ‘शिवराज, शिवराज, शिवराज’ चिल्लाते हैं. चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अद्वितीय नेता हैं और भारत को विश्वगुरु बनने से कोई नहीं रोक सकता.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.