जानें कौन हैं अरुण योगीराज? जिनकी रामलला की मूर्ति को अयोध्या मंदिर के लिए चुना गया

37

अयोध्या राम मंदिर में स्थापित होने वाली भगवान राम की मूर्ति के बारे में जिस खबर का लोगों को इंतजार था, वह सामने आ चुका है. जी हां..केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस बाबत जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि तीन मूर्तियों में से, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने मैसूर स्थित मूर्तिकार अरुण योगीराज की रामलला को चुनने का काम किया है. आपको बता दें कि राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाना है जिसका इंतजार देश के हर नागरिक को है. प्रह्लाद जोशी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर लिखा कि जहां राम…वहां हनुमान…अयोध्या में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा के लिए मूर्ति का चयन फाइनल हो गया है. हमारे देश के प्रसिद्ध मूर्तिकार, हमारे गौरव श्री अरुण योगीराज की मूर्ति का चयन किया गया है. अपने इस पोस्ट को उन्होंने अरुण योगीराज को भी टैग किया है.

कौन हैं अरुण योगीराज

इस खबर के सामने आने के बाद लोग अरुण योगीराज के बारे में गूगल में सर्च कर रहे हैं. लोग उनके बारे में जानना चाहते हैं कि उन्होंने आखिर इतनी सुंदर मूर्ति कैसे तैयार की…तो आइए जानते हैं अरुण योगीराज के बारे में…योगीराज एक ऐसे परिवार से हैं जिनकी पांच पीढ़ियां प्रसिद्ध मूर्ति बनातीं आ रहीं हैं. उनके दादा बसवन्ना शिल्पी को तत्कालीन मैसूर रियासत के राजा का संरक्षण प्राप्त था. इंडिया गेट के पास अमर जवान ज्योति के पीछे योगीराज के द्वारा बनाई गई सुभाष चंद्र बोस की 30 फीट की प्रतिमा स्थापित की गई थी. उनके द्वारा बनाई गई अन्य प्रसिद्ध मूर्तियों में केदारनाथ में 12 फीट की आदि शंकराचार्य की मूर्ति, मैसूर के चुंचनकट्टे में 21 फीट की हनुमान मूर्ति, 15 फीट बी.आर. अम्बेडकर की मूर्ति मैसूरु में, मैसूरु में स्वामी रामकृष्ण परमहंस की सफेद संगमरमर की पत्थर की मूर्ति,नंदी की 6 फीट की अखंड मूर्ति, 6 फीट की बाणशंकरी देवी की मूर्ति और मैसूर महाराजा जयचामाराजेंद्र वोडेयार की 14.5 फीट की सफेद संगमरमर पत्थर की मूर्ति शामिल है.

02011 pti01 01 2024 000341a
ayodhya ram mandir news

अरुण योगीराज की मां ने क्या कहा

अरुण योगीराज की मां सरस्वती ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात की और कहा कि यह हमारे लिए सबसे खुशी का पल है, मैं उन्हें मूर्ति बनाते हुए देखना चाहती थी, लेकिन उन्होंने कहा कि वह मुझे आखिरी दिन ले जाएंगे, मैं स्थापना के दिन जाऊंगी. इधर, योगीराज ने कहा कि उन्हें अभी तक इस बारे में कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है कि उन्होंने जो मूर्ति बनाई थी उसे स्वीकार कर लिया गया है या नहीं… हालांकि, बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने सोशल मीडिया पर मैसेज पोस्ट किया, जिससे उन्हें विश्वास हो गया कि उनके काम को स्वीकार कर लिया गया है.

ayodhya ram mandir news

कर्नाटक के पूर्व सीएम येदियुरप्पा ने क्या कहा

इधर, बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि राज्य के जानेमाने मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई ‘रामलला’ की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा अयोध्या में निर्मित भव्य राम मंदिर में की जाएगी. येदियुरप्पा ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘एक्स’ पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने लोगों से खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मैसूरु के मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई भगवान राम की मूर्ति का चयन अयोध्या के भव्य श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के लिए किया गया है. इससे राज्य के श्रीराम का गौरव और प्रसन्नता दोगुनी हो गई है. आगे उन्होंने लिखा कि मूर्तिकार योगीराज अरुण को हार्दिक बधाई…

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.