Karnataka Election 2023: क्या है फेसियल रिकॉग्निशन ? कर्नाटक चुनाव में पहली बार हो रहा है इसका इस्तेमाल

10

कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए सुबह सात बजे से मतदान जारी है जो शाम छह बजे तक चलेगा. निर्वाचन आयोग ने राज्य में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए व्यापक प्रबंध किये हैं. आयोग इस चुनाव से एक नये तकनीक की शुरुआत कर रहा है. इस तकनीक के माध्यम से चेहरे की पहचान यानी फेसियल रिकॉग्निशन की शुरुआत हो रही है. यह पहली कोशिश है, इसलिए सिर्फ एक मतदान केंद्र पर ही इसे लगाया गया है.

यदि यह प्रयोग सफल होता है, तो आगे भी इसका इस्तेमाल किया जायेगा. मतदान केंद्र पर सबसे पहले मतदाता सत्यापन के लिए चेहरे की पहचान करने वाली स्कैनिंग मशीन से गुजर रहे हैं. उसमें यदि मतदाता की तस्वीर चुनाव आयोग के डेटाबेस से मिल जायेगी, तो उन्हें कोई दस्तावेज प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं होगी. वैसे मतदाता मतदान के लिए आगे बढ़ सकते हैं. अगर स्कैनिंग के दौरान उनकी तस्वीर चुनाव आयोग के डेटाबेस से मेल नहीं खायेगी, तो उनके लिए कुछ अलग व्यवस्था की जायेगी ताकि उनका मतदान न छूटे.

मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच

इस नयी प्रणाली से चुनाव के दौरान लंबी-लंबी कतार को कम करने में सहायता मिल रही है और धोखाधड़ी से वोट देने वाले लोगों पर भी लगाम लगेगा. यहां चर्चा कर दें कि कर्नाटक में 224 विधानसभा सीटों के लिए मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है. जेडीएस भी चुनावी मैदान में ताल ठोंक रही है. अब 13 मई को पता चलेगा कि कर्नाटक की सत्ता का ताज भाजपा बरकरार रख पाती है या कांग्रेस उससे यह ताज छीनने में सफल रहती है या फिर तीसरी ताकत के रूप में जेडीएस इसकी कुंजी अपने पास रखता है.

चुनाव की ये बात भी जानें

2615 प्रत्याशी हैं चुनावी मैदान में, 1087 उम्मीदवार हैं करोड़पति

04 प्रत्याशियों के पास 1000 करोड़ रुपये से अधिक की है दौलत

9.17 लाख वोटर्स पहली बार डालेंगे वोट, बनाये गये हैं विशेष बूथ

80 वर्ष से ज्यादा व दिव्यांग लोगों के लिए घर से मतदान की सुविधा

वोट डालने की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कर्नाटक के लोगों से राज्य विधानसभा के चुनाव में बड़ी संख्या में मतदान करने का आह्वान किया. उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि कर्नाटक के लोगों, विशेष रूप से युवा और पहली बार मतदान करने वालों से बड़ी संख्या में मतदान करने और लोकतंत्र के उत्सव को समृद्ध करने का आग्रह करता हूं.

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि कर्नाटक के लोगों ने एक प्रगतिशील, पारदर्शी और कल्याणकारी सरकार चुनने का फैसला कर लिया है. उन्होंने लोगों से चुनाव में भारी संख्या में मतदान करने की अपील की. खरगे ने कहा कि हम बेहतर भविष्य के वास्ते इस लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेने के लिए अपने पहली बार के मतदाताओं का स्वागत करते हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.