Cyclone Biparjoy Tracker: भीषण तूफान ‘बिपरजॉय’ मचाएगा तबाही ? यहां होगी बारिश, IMD ने किया अलर्ट

14

weather forecast today : उत्तर प्रदेश और बिहार में लू ने लोगों को परेशान कर रखा है. दिल्ली-NCR के लोग भी उमस भरी गर्मी से बेहाल नजर आ रहे हैं. इस बीच, मौसम विभाग की ताजा रिपोर्ट राहत देने वाली है. दरअसल ‘बिपरजॉय’ चक्रवात अगले कुछ घंटों में तूफान में बदलने की पूरी संभावना है. इससे कई राज्यों के मौसम में बदलाव होने की संभावना है. तेज हवाओं और बारिश के कारण तापमान में कमी होने के आसार हैं.

मौसम विभाग ने बताया कि बहुत गंभीर चक्रवात ‘बिपरजॉय’ के अति गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है, लेकिन इसके गुजरात तट से टकराने का अनुमान नहीं है. चक्रवात के पोरबंदर तट से 200-300 किलोमीटर की दूरी से गुजरने का अनुमान है, लेकिन अगले पांच दिनों के दौरान गुजरात में आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है. आईएमडी ने कहा कि बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘बिपरजॉय’ के अगले कुछ घंटों के दौरान एक अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है. उन्होंने कहा कि अगले तीन दिन के दौरान उत्तर-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ने से पहले इसके धीरे-धीरे उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ने का अनुमान है.

कहां है ‘बिपरजॉय’ अभी

ताजा जानकारी में मौसम विभाग ने बताया कि बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान (VSCS), ‘बिपरजॉय’ अक्षांश 17.4N और लंबी 67.3E, मुंबई के लगभग 600 किमी WSW, पोरबंदर के 530 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और कराची के 830 किमी दक्षिण के पास केंद्रित है. 15 जून की दोपहर पाकिस्तान के आसपास और सौराष्ट्र और कच्छ तट के पास पहुंचने की संभावना है.

गुजरात में अगले पांच दिन गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान

अहमदाबाद (भारत मौसम विज्ञान विभाग) केंद्र की निदेशक मनोरमा मोहंती ने कहा कि गुजरात में अगले पांच दिन में गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है, खासकर सौराष्ट्र-कच्छ क्षेत्र में हवा की गति तेज रहेगी. मोहंती ने कहा कि अगले दो दिनों के दौरान, सौराष्ट्र-कच्छ क्षेत्र में 30-40 किमी प्रति घंटे की हवा की गति देखी जा सकती है. इसके बाद, इस क्षेत्र में 30-50 किमी प्रति घंटे से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है.

एनडीआरएफ तैयार

अधिकारियों ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के दलों को पोरबंदर, गिर सोमनाथ और वलसाड जिलों में भेज दिया है. भारतीय तटरक्षक बल ने गुजरात, दमन और दीव के मछुआरा समुदाय और नाविकों को जरूरी सावधानी बरतने और सुरक्षा उपाय करने की सलाह दी है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.