Vivek Oberoi का खुलासा एक साल पहले इस कारण खुद से हो गए थे तंग, फिर लॉकडाउन ने बदल डाली जिंदगी

0 55


बीते साल पूरी दुनिया के कई देशों को कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन का सामना करना पड़ा था। भारत भी लंबे समय तक लॉकडाउन से गुजरा था। बहुत से लोगों ने इस लॉकडाउन का भरपूर इस्तेमाल किया। उन्हीं में से एक बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेरॉय भी हैं। उन्होंने खुलासा किया है कि उनका वजन काफी बढ़ गया था, जिसको उन्होंने लॉकडाउन के दौरान कम किया।

यह खुलासा विवेक ओबेरॉय ने अंग्रेजी वेबसाइट बॉम्बे टाइम्स से बातचीत करते हुए किया है। उन्होंने इस दौरान अपने बारे में ढेर सारी बातें कीं। विवेक ओबेरॉय ने अपने वजन बढ़ने को लेकर कहा है कि वह इसकी वजह से खुद से तंग हो गए थे। हालांकि उन्होंने लॉकडाउन के दौरान अपना 14 किलो वजन कम किया और खुद को फिट किया। एक साल पहले उनका वजन काफी बढ़ गया था। इसकी वजह खराब लाइफस्‍टाइल था।

विवेक ओबेरॉय ने कहा, ‘मैं कुछ भी खा रहा था। घंटों तक वीडियोज देखता रहता था। सुबह 5 बजे सोता था और दोपहर तक सोता रहता था। एक तरह से मैंने अपना ट्रैक ही खो दिया था। मैं सब गलत कर रहा था और इस कारण मेरा वजन बहुत बढ़ गया। मैं इस वजह से खुद से तंग आ गया था। हालांकि लॉकडाउन मेरे लिए नए मौके लेकर आया। मैं लॉकडाउन का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा, जिसने मुझे खुद के अंदर झांकने का मौका दिया।’


अभिनेता ने आगे कहा, ‘सबसे पहले तो मैंने अपने ऊपर कई तरह की पाबंदिया लगाईं। मैं सुबह 4:30 बजे जगने लगा। योग करने लगा, वर्कआउट सेशन शुरू किए। लंबे समय तक मैं जूस डाइड पर रहा। रात में 10 बजते ही मैं सो जाता था।’ विवेक ओबेरॉय ने बताया कि लॉकडाउन का उन्होंने काफी फायदा उठाया है। उन्‍होंने इस दौरान न केवल अपना वजन कम किया, बल्‍क‍ि कई फिल्मों की स्‍क्र‍िप्‍ट्स पढ़ीं।

आपको बता दें कि बीते दिनों विवेक ओबेरॉय के खिलाफ मुंबई पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी। यह एफआईआर उनके खिलाफ मास्क पहने बिना बाइक चलाने पर दर्ज की गई थी। वेलेंटाइन डे के मौके पर विवेक ओबरॉय अपनी पत्नी प्रियंका अल्वा ओबेरॉय के साथ मुंबई की सड़कों पर रात को बिना मास्क लगाए बाइक चलाते हुए नजर आए थे। साथ ही हेलमेट नहीं पहनने के चलते 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया गया था। दरअसल मुंबई में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में अधिकारियों ने इस बात के दिशा निर्देश दिए है कि जो भी मास्क लगाने के नियमों का पालन नहीं करेगा। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।