वंदे भारत ट्रेन में आग लगने के बाद से चिंतित थे यात्री, रेलवे का आया ये बयान

5

भोपाल से दिल्ली जा रही वंदे भारत ट्रेन के बैटरी बॉक्स में आग लगने के बाद यात्रियों में चिंता थी. उनकी इस चिंता को रेलवे ने दूर कर दिया है. दरअसल, पिछले दिनों वंदे भारत ट्रेन के बैटरी बॉक्स में आग लगने के हफ्ते भर बाद रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अनिल कुमार लाहोटी ने इस श्रेणी की अत्याधुनिक रेलगाड़ियों में यात्रियों की सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं को खारिज किया. लाहोटी ने कहा कि तेज रफ्तार वाली इन रेलगाड़ियों में अग्नि सुरक्षा के ‘‘बहुत अच्छे’’ इंतजाम हैं जिनके बूते भोपाल से दिल्ली जा रही वंदे भारत ट्रेन में लगी आग को वक्त रहते बुझा लिया गया था. अधिकारियों के मुताबिक 17 जुलाई की इस घटना में कोई यात्री हताहत नहीं हुआ था.

लाहोटी ने इंदौर में मीडिया से बात की और कहा कि वंदे भारत ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर कोई चिंताएं नहीं हैं. इस रेलगाड़ियों में आग से बचाव के बहुत अच्छे इंतजाम हैं. उन्होंने कहा कि भोपाल से दिल्ली जा रही वंदे भारत ट्रेन में 17 जुलाई को लगी आग केवल बैटरी बॉक्स तक सीमित रही थी. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि बचाव के अच्छे इंतजाम के चलते इस आग को फैलने से पहले ही बुझा लिया गया था.

इंदौर-भोपाल वंदे भारत ट्रेन में कम सीटें भर रहीं हैं

इंदौर से भोपाल के बीच चलने वाली वंदे भारत ट्रेन में महंगे किराये के कारण यात्रियों के टोटे के बारे में पूछे जाने पर लाहोटी ने कहा कि हम समीक्षा कर रहे हैं कि इंदौर-भोपाल वंदे भारत ट्रेन में कम सीटें क्यों भर पा रही हैं. हम इस स्थिति का उचित समाधान निकालेंगे. उन्होंने कहा कि देश भर के गंतव्यों के लिए वंदे भारत ट्रेनों की किराया दर एक समान है और कुल मिलाकर इन ट्रेनों की 95 प्रतिशत से ज्यादा सीटें भरी रहती हैं. लाहोटी, इंदौर और इसके आस-पास चल रहीं रेल परियोजनाओं की समीक्षा के लिए आयोजित विभागीय बैठक में शामिल होने आए थे. रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि उन्होंने महू-खंडवा रेल मार्ग को मीटर गेज से ब्रॉड गेज में बदलने, इंदौर-दाहोद रेल परियोजना और अन्य अहम परियोजनाओं की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि पिछले दो महीनों के दौरान इन परियोजनाओं से जुड़ी कई रुकावटें दूर हुई हैं और इनके काम-काज में अच्छी प्रगति हुई है.

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगने की पहली घटना

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से नयी दिल्ली जा रही वंदे भारत ट्रेन की एक बोगी के बैटरी बॉक्स में 17 जुलाई की सुबह आग लग गयी थी. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगने की यह पहली घटना थी. घटना में कोई घायल नहीं हुआ था. बोगी में 37 यात्री थे और उन्हें तुरंत दूसरी बोगी में स्थानांतरित किया गया. कुछ देर में आग पर काबू पा लिया गया था और मरम्मत का काम किया गया. तीन घंटे से अधिक समय तक रुकने के बाद ट्रेन अपनी आगे की यात्रा पर रवाना हुई थी.

यहां चर्चा कर दें कि इस साल एक अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां रानी कमलापति स्टेशन से हजरत निजामुद्दीन के बीच वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी. यह ट्रेन शनिवार को छोड़कर सप्ताह में छह दिन चलती है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.