वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की बैठक में मेडिकल कॉलेज के स्थापना को मिली मंजूरी

13

वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड : जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को रियासी जिले में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीडीएसबी) की 71वीं बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें बोर्ड ने एक मेडिकल कॉलेज स्थापित करने को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि बैठक में बोर्ड के सदस्यों, उपराज्यपाल के प्रधान सचिव मंदीप कुमार भंडारी और बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंशुल गर्ग ने हिस्सा लिया.

50 बिस्तर वाले मेडिकल कॉलेज की स्थापना

उन्होंने कहा कि बोर्ड ने काकरयाल में लगभग 350-450 करोड़ रुपये की लागत से 50 बिस्तर वाले मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है. प्रवक्ता ने कहा, ‘बोर्ड ने विशेष उपचार की आवश्यकता वाले रोगियों की जरूरत को पूरा करने के लिए श्री माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल (एसएमवीडीएनएसएच) के संचालन आधार के विस्तार की अनुमानित आवश्यकता पर सहमति व्यक्त की. व्यापक विचार-विमर्श के बाद, बोर्ड ने लगभग 120 करोड़ रुपये की लागत से अस्पताल की मौजूदा क्षमता को 200 से 220 बिस्तरों तक बढ़ाने की सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी.’

तीर्थयात्रियों की सेवाओं से जुड़े 36 एजेंडा को सैद्धांतिक मंजूरी

उन्होंने कहा कि बोर्ड ने स्थिति पर गौर किया, व्यापक विचार-विमर्श किया, पुष्टि की और बोर्ड के कामकाज और तीर्थयात्रियों की सेवाओं से जुड़े 36 एजेंडा को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी. प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड ने बोर्ड के सीईओ से तीर्थयात्रा को श्रद्धालुओं के लिए एक यादगार अनुभव बनाने के लिए उभरती आवश्यकताओं के अनुरूप सर्वोत्तम सुविधाएं बनाने का प्रयास करने को कहा. उन्होंने कहा कि बोर्ड ने लगभग 31.51 करोड़ रुपये की लागत से भवन में एक नए यात्री-सह-कर्मचारी आवास के निर्माण को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है.

विभिन्न तीर्थ-केंद्रित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा

बैठक में स्काईवॉक, पार्वती भवन की ‘रेट्रोफिटिंग और रीमॉडलिंग’ और अटका क्षेत्र के विस्तार जैसी विभिन्न तीर्थ-केंद्रित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा भी की गई. प्रवक्ता ने बताया कि गर्ग ने बोर्ड को सूचित किया कि भवन में चल रही प्रतिष्ठित परियोजनाओं में तेजी लाई जा रही है और उनके “शारदीय नवरात्र” से पहले पूरा होने की संभावना है.

वित्त वर्ष 2023-24 के लिए आवश्यक अनुदान सहायता को मंजूरी

प्रवक्ता ने कहा कि एसएमवीडीएसबी के सीईओ को मार्ग और संबद्ध सुविधाओं के निर्माण के साथ-साथ शंकराचार्य मंदिर के निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया गया. प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड ने गुरुकुल, अस्पताल, खेल परिसर और नर्सिंग कॉलेज जैसे बोर्ड के परिधीय संस्थानों के कामकाज को मजबूत करने के लिए एसएमवीडी चैरिटेबल सोसाइटी के पक्ष में वित्त वर्ष 2023-24 के लिए आवश्यक अनुदान सहायता को मंजूरी भी दी.

यात्री रोपवे के लिए ऑनलाइन बुकिंग सुनिश्चित

बैठक को संबोधित करते हुए उपराज्यपाल ने बोर्ड के सीईओ को श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यात्री रोपवे के लिए ऑनलाइन बुकिंग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.