Vacancy: त्योहारी सीजन में ई-कॉमर्स कंपनी में नौकरी की भरमार, फ्लिपकार्ट एक लाख लोगों को देगा रोजगार

9

Vacancy: अगर, आप नौकरी तलाश कर रहे हैं तो अपके लिए एक अच्छी खबर है. इस त्योहारी सीजन नौकरियों की भरमार आने वाली है. बताया जा रहा है कि घरेलू ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart Jobs) ने सोमवार को कहा कि उसने त्योहारी सीजन से पहले एक लाख से अधिक मौसमी (अस्थायी) रोजगार देने का लक्ष्य तय किया है. कंपनी ने कहा कि मांग को पूरा करने के लिए उसकी आपूर्ति श्रृंखला में ये भर्तियां की जाएंगी. फ्लिपकार्ट ने बयान में कहा कि प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष, दोनों तरह के रोजगार में स्थानीय किराना आपूर्ति साझेदार और महिलाएं शामिल होंगी. इनमें विकलांग व्यक्तियों (पीडब्ल्यूडी) को भी नियोजित किया जाएगा. कंपनी को त्योहारी सत्र से पहले अपनी आपूर्ति श्रृंखला में एक लाख से अधिक नए रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है.

द बिग बिलियन डेज की तैयारी कर रही कंपनी

फ्लिपकार्ट समूह के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हेमंत बद्री ने कहा कि द बिग बिलियन डेज (टीबीबीडी) की बिक्री बड़े पैमाने पर होती है और इसका भारत के नवाचार और पारिस्थितिकी तंत्र पर असर होता है. इससे लाखों नए ग्राहकों को ई-कॉमर्स की अच्छाई का अनुभव करने का मौका मिलता है. फ्लिपकार्ट टीबीबीडी बिक्री के दौरान शीर्ष ब्रांड के उत्पादों पर छूट देती है. बताया जा रहा है कि कंपनी के द्वारा हर त्योहारी सीजन कई बड़े सेल का आयोजन किया जाता है. इसके अलावा लोग अपने घरों को रेनोवेट करने के लिए भी ज्यादा खरीदारी करते हैं. ऐसे में कंपनी में काम का प्रेसर बढ़ जाता है. इसे देखते हुए कंपनी के द्वारा ये फैसला किया गया है. इससे कंपनी ग्राहकों तक सही और तय समय में सामान की डिलिवरी कर सकेगी.

वाणिज्य मंत्रालय का बैंकों को सुझाव, ई-कॉमर्स निर्यातकों को विदेशी मुद्रा में मिले निर्यात ऋण

वाणिज्य मंत्रालय के तहत आने वाले विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने सोमवार को कहा कि उसने बैंकिंग और वित्तीय संस्थानों को सुझाव दिया है कि ई-कॉमर्स निर्यातकों को विदेशी मुद्रा में निर्यात ऋण दिया जाए. मंत्रालय ने हालांकि कहा कि ऐसा रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के आधार पर किया जाना चाहिए. ई-कॉमर्स निर्यातकों या बैंकों को इस तरह के ऋण के संबंध में कोई भी समस्या होने पर वे उसे विदेश व्यापार महानिदेशालय के ध्यान में ला सकते हैं. गौरतलब है कि नयी विदेश व्यापार नीति 2023 का उद्देश्य भी ई-कॉमर्स के जरिये निर्यात को बढ़ावा देना है.

डीजीएफटी ने भी की टिप्पणी

डीजीएफटी ने एक व्यापार टिप्पणी में कहा कि ई-कॉमर्स के माध्यम से निर्यात से संबंधित बकाया मुद्दों पर उद्योग प्रतिनिधियों, निर्यातकों और नोडल विभागों के साथ बातचीत की गई. टिप्पणी में कहा गया कि एक मुद्दा ई-कॉमर्स निर्यात के लिए खेप भेजने से पहले और बाद में निर्यात ऋण की अनुपलब्धता था और इस संबंध में आरबीआई के साथ चर्चा हुई है. टिप्पणी में आगे कहा गया कि मास्टर सर्कुलर ‘रुपया/विदेशी मुद्रा निर्यात ऋण और निर्यातकों के लिए ग्राहक सेवा’ में एक व्यापक रूपरेखा दी गई है और सभी पात्र लोगों को खेप भेजने से पहले और बाद में निर्यात ऋण तक पहुंच की अनुमति है. इसमें ई-कॉमर्स निर्यातक भी शामिल हैं.

आईटी, वाहन क्षेत्रों में सतर्क रुख से अगस्त में कार्यालय भर्ती में छह प्रतिशत की गिरावट

देश में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी), बीमा, वाहन, स्वास्थ्य-देखभाल और बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (बीपीओ) क्षेत्र में सतर्क रुख के कारण अगस्त में कार्यालय भर्तियों में छह प्रतिशत की गिरावट आई है. एक रिपोर्ट में सोमवार को यह बात कही गई. इस साल अगस्त में 2,666 नौकरियां आईं, जबकि एक साल पहले इसी अवधि में यह आंकड़ा 2,828 था. नौकरी जॉबस्पीक सूचकांक के अनुसार, मासिक आधार पर अगस्त, 2023 में नौकरियों में चार प्रतिशत की वृद्धि हुई. जुलाई, 2023 में 2,573 नौकरियां आईं थीं. नौकरी जॉबस्पीक एक मासिक सूचकांक है, जो भारतीय रोजगार बाजार की स्थिति को बताता है. यह ‘नौकरी डॉट कॉम’ पर नियोक्ताओं द्वारा निकाली गईं नौकरियों और नौकरी से संबंधित खोजों के आधार पर भर्ती गतिविधियों की जानकारी देता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.