केदारनाथ यात्रा को लेकर अधिक सतर्कता बरत रही उत्तराखंड सरकार, खराब मौसम से आ रही बाधा

6

देहरादून : साल 2013 की आपदा से सबक लेते हुए उत्तराखंड सरकार उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र में लगातार जारी प्रतिकूल मौसमी दशाओं के बीच चारधाम और खासकर केदारनाथ यात्रा को लेकर अत्यधिक सतर्कता बरत रही है. भारी बर्फबारी और बारिश के कारण बुधवार को न केवल केदारनाथ यात्रा स्थगित कर दी गई, बल्कि धाम की ओर आ रहे श्रद्धालुओं को ऋषिकेश, श्रीनगर, फाटा, गौरीकुंड सहित विभिन्न पड़ावों में रोक लिया गया. हालांकि, गुरुवार को मौसम में कुछ सुधार आने के साथ ही केदारनाथ यात्रा फिर शुरू कर दी गई.

खराब मौसम के चलते रोकी गई थी यात्रा

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि खराब मौसम के कारण यात्रा को रोकने का निर्णय लिया गया था जिससे यात्रियों को किसी भी संभावित अप्रिय स्थिति से बचाया जा सका. उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की संभावित विपत्ति से निपटने के लिए पूरी तैयारी थी. हालांकि, इस दौरान कोई भी बड़ा नुकसान केदारनाथ में नहीं हुआ, जिसकी लगातार आशंका बनी हुई थी.

टूट गया था कुबेर हिमनद बड़ा हिस्सा

बुधवार को ही केदारनाथ घाटी में कुबेर हिमनद का एक बड़ा हिस्सा टूटकर पैदल मार्ग पर आ गिरा था, जिससे पूरा रास्ता बर्फ से ढक गया. इसके अलावा, लिंचोली से केदारनाथ आ रहे नेपाली मूल के चार पोर्टर भी हिमनद के टूटने से बर्फ में फंस गए. उन्हें राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) की टीम ने अत्यंत विषम परिस्थितियों में मौके पर पहुंच कर सुरक्षित बाहर निकाला.

मुस्तैदी से काम कर रही एसडीआरएफ की टीम

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने एसडीआरएफ टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह हर जगह चौकस रहकर मुस्तैदी से काम कर रही है. उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं की यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने के लिए एसडीआरएफ ने 22 संवेदनशील स्थानों पर अपनी चौकियां स्थापित की हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस और एसडीआरएफ के जवान श्रद्धालुओं के अस्वस्थ और चोटिल होने पर उन्हें प्राथमिक उपचार देकर तत्काल अस्पताल पहुंचा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अत्यधिक ऊंचाई पर श्रद्धालुओं को जरूरत पड़ने पर आक्सीजन भी उपलब्ध कराई जा रही है.

जायजा लेने केदारनाथ गए थे पुलिस महानिदेशक

खराब मौसम के मद्देनजर यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार खुद ही मंगलवार को केदारनाथ गए थे. उन्होंने बताया कि वहां उन्होंने फाटा से धाम के रास्ते में सोनप्रयाग एवं गौरीकुंड में यात्रा पर आए श्रद्धालुओं से बातचीत की और उनकी यात्रा के अनुभव जाने. इस दौरान उन्होंने केदारनाथ धाम में पुलिस अधिकारियों के साथ यात्रा व्यवस्था की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि हमें भीड़ नियन्त्रण के साथ ही आये यात्रियों को राहत भी देना है. उनकी यात्रा को सरल और सुगम बनाना है.

उत्तराखंड पुलिस ऐप पर मिलेगी सटीक जानकारी

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस ने ‘उत्तराखंडपुलिसऐप’ शुरू किया है, जिससे श्रद्धालुओं को मौसम की अपडेटेड सूचना मिलेगी. उन्होंने बताया कि इस ऐप से श्रद्धालुओं को सभी जिलों के मौसम और मार्ग परिवर्तन संबंधी सभी जानकारी मिल पाएगी. केदारनाथ धाम के कपाट 25 अप्रैल को खुले थे और अब तक वहां एक लाख 22 हजार 996 श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.