Ujjain: ‘मैंने उसे ढकने के लिए कपड़े दिये और…’, दुष्कर्म के बाद नाबालिग की मदद करने वाले पुजारी ने कहा

38

ujjain viral video: मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में सड़क पर खून से लथपथ पाई गई लड़की से द्ष्कर्म के मामले में पुलिस ने एक ऑटोरिक्शा चालक को हिरासत में लिया है और पांच अन्य लोगों से भी पूछताछ की जा रही है. इस बीच उक्त लड़की की मदद करने वाले युवक का बयान सामने आया है जो एक पुजारी है. उज्जैन की नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता की मदद करने वाले पुजारी राहुल शर्मा ने कहा कि जैसे ही मैंने लड़की को देखा, जो अर्धनग्न अवस्था में थी और खून बह रहा था, मैंने उसे ढकने के लिए कपड़े दिये. मैंने उससे बहुत सारी बातें पूछीं लेकिन मुझे समझ नहीं आया कि वह क्या कह रही है. मैंने तुरंत हेल्पलाइन ‘100’ पर फोन किया, 20 मिनट के भीतर पुलिस पहुंची और आज लड़की सुरक्षित है. आगे शर्मा ने कहा कि ऐसा लग रहा था कि वह लंबी दूरी तय करके यहां पहुंची है. दोषी पाए जाने वालों को मौत की सजा दी जानी चाहिए. मामले पर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया है कि पुलिस को हिरासत में लिए गए व्यक्ति के ऑटोरिक्शा की यात्री सीट पर कुछ खून के धब्बे भी मिले हैं. आपको बता दें कि इस दुष्कर्म के मामले ने पूरे देश को हिला दिया है. मामले पर राजनीतिक बयान भी आ रहे हैं. कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए सीएम शिवराज को घेरा है.

मध्य प्रदेश में हुई इस घटना से पूरे देश में रोष है. उज्जैन पुलिस ने दुष्कर्म के मामले को लेकर जो जानकारी दी उसके अनुसार, एक काउंसिलर ने नाबालिग पीड़िता से बातचीत की और पाया कि वह सतना जिले की है. हालांकि, सतना पुलिस ने कहा है कि यदि यह वही लड़की है जिसके बारे में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी, तो इसकी पुष्टि उसके परिवार द्वारा उसकी पहचान करने के बाद की जाएगी. आपको बता दें कि करीब 12 साल की लड़की सोमवार को उज्जैन के महाकाल थाना क्षेत्र स्थित एक सड़क पर खून से लथपथ पाई गई थी. पुलिस ने कहा कि उसे एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी प्रारंभिक चिकित्सा जांच में पुष्टि हुई कि उसके साथ द्ष्कर्म किया गया है.

डॉक्टरों की एक टीम ने पीड़िता का किया ऑपरेशन

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की का बुधवार को इंदौर में डॉक्टरों की एक टीम ने ऑपरेशन किया और अब उसकी हालत गंभीर पर स्थिर बताई जा रही है. मामले पर उज्जैन के पुलिस अधीक्षक (एसपी) सचिन शर्मा ने जानकारी दी कि पुलिस ने एक वीडियो फुटेज के आधार पर एक ऑटोरिक्शा चालक को हिरासत में लिया है. पुलिस को ऑटोरिक्शा की यात्री सीट पर कुछ खून के धब्बे भी मिले. उन्होंने कहा कि पांच अन्य लोगों से भी पूछताछ की जा रही है. लड़की की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है क्योंकि वह पुलिस को अपना नाम, उम्र और पता ठीक से नहीं बता पा रही है.

पीड़िता मध्य प्रदेश के सतना जिले की

आगे पुलिस अधीक्षक (एसपी) सचिन शर्मा ने कहा कि एक काउंसिलर ने पीड़िता से बातचीत की और पाया कि वह मध्य प्रदेश के सतना जिले की है, जहां 25 सितंबर को जैतवारा पुलिस थाना (सतना में) में एक लापता लड़की की रिपोर्ट दर्ज की गई. उन्होंने कहा कि घटना की आगे की जांच एक विशेष जांच दल (एसआईटी) के माध्यम से की जा रही है. इस बीच, सतना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवेश सिंह बघेल ने कहा कि जैतवारा थाने में करीब 13 साल की स्कूल यूनिफॉर्म पहने एक लड़की की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. नाबालिग के परिवार के सदस्यों द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार वह मानसिक रूप से थोड़ी ‘कमजोर’ है. उन्होंने कहा कि जो खबरें चल रहीं हैं उसे पढ़ने और स्कूल की वर्दी में पीड़िता की तस्वीरें देखने के बाद, पुलिस को संदेह है कि दुष्कर्म पीड़िता वही लापता लड़की है. तदनुसार, पीड़िता के परिवार के सदस्यों के साथ पुलिस की एक टीम को उसकी पहचान के लिए उज्जैन भेजा गया है.

सतना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवेश सिंह बघेल ने कहा कि अगर वे पीड़िता की पहचान करते हैं, तो मामले में आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

कांग्रेस ने किया बीजेपी पर वार

यहां चर्चा कर दें कि 12 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता के सड़क पर खून से लथपथ हालत में पाये जाने की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसके बाद कांग्रेस ने मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार पर आरोप लगाया कि वह राज्य में महिलाओं और लड़कियों की गरिमा की रक्षा करने में असमर्थ है. लोगों में भारी आक्रोश के बीच, मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को घोषणा की कि चौंकाने वाले अपराध की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है.

भाषा इनपुट के साथ

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.