उज्जैन दुष्कर्म मामला: पीड़िता के इलाज, शिक्षा और शादी का खर्च उठाएगा ये पुलिसवाला, देखें वीडियो

11

मध्य प्रदेश के उज्जैन में 12 साल की लड़की के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म और क्रूरता करने के मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हिरासत में लिए गए एक ऑटो रिक्शा चालक को गिरफ्तार कर लिया. पीड़िता तीन दिन पहले, सोमवार को शहर की सड़कों पर घायल हालत में घूमती पाई गई थी जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. इस बीच महाकाल थाना प्रभारी अजय वर्मा ने कहा है कि मैंने कहा है कि मैं (पीड़ित) लड़की के इलाज, शिक्षा और शादी का ख्याल रखूंगा. इस पहल के लिए अन्य लोगों गो भी आगे आने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि मैंने पहले भी ऐसा किया है. इधर, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) के एक सदस्य ने कहा कि इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती लड़की की हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. मध्य प्रदेश की इस घटना के बाद देश के लोगों में रोष है. मामले पर राजनीतिक बयानबाजी जारी है. कांग्रेस ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर जोरदार हमला किया है.

आरोपी ने की थी भागने की कोशिश

महाकाल थाने के प्रभारी अजय वर्मा ने बताया कि जांच के दौरान हिरासत में लिए गए आरोपी भरत सोनी को जब पुलिस फटे कपड़े जैसे सबूत इकट्ठा करने के लिए घटनास्थल पर ले गई तो वो भागने का प्रयास करने लगा. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा किया और उसे पकड़ लिया गया. यह घटना जीवन खेड़ी इलाके के पास हुई और झड़प में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. बताया जा रहा है कि मामले में एकमात्र आरोपी सोनी शहर के नानाखेड़ा इलाके का निवासी है. पुलिस ने पहले सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उसे हिरासत में लिया था और दावा किया था कि उसके ऑटो रिक्शा की यात्री सीट पर खून के धब्बे मिले हैं.

कौन है पीड़िता?

उल्लेखनीय है कि लड़की सोमवार को महाकाल थाने की सीमा में एक सड़क पर खून से लथपथ मिली थी. मेडिकल जांच में पता चला कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है. बुधवार को इंदौर के शासकीय महाराजा तुकोजीराव होलकर महिला चिकित्सालय में विशेषज्ञ डॉक्टरों की एक टीम ने उनका ऑपरेशन किया. उज्जैन पुलिस ने जो जानकारी दी है उसके अनुसार, एक काउंसिलर ने नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता से बातचीत की और पाया कि वह सतना जिले की रहने वाली है. हालांकि, सतना पुलिस ने कहा है कि यदि यह वही लड़की है जिसके बारे में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी, तो इसकी पुष्टि उसके परिवार द्वारा उसकी पहचान करने के बाद होगी.

लड़की का काफी खून बहा : डॉ. दिव्या गुप्ता

एनसीपीसीआर की सदस्य (बाल स्वास्थ्य, देखभाल और कल्याण) डॉ. दिव्या गुप्ता ने दिन में इंदौर में अस्पताल का दौरा किया और लड़की का इलाज कर रहे डॉक्टरों से मुलाकात की. स्त्री रोग विशेषज्ञ गुप्ता ने बताया कि लड़की का काफी खून बहा है और उसकी बड़ी सर्जरी हुई है. उसे अब तक दो बोतल खून चढ़ाया गया है. हालांकि, अस्पताल में इलाज के चलते उसकी हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. उन्होंने बताया कि प्रशासन को हमारे सख्त निर्देश हैं कि किसी भी बाहरी व्यक्ति को इस लड़की से मिलने की इजाजत नहीं दी जाए क्योंकि अस्पताल में अपने सामने किसी अजनबी व्यक्ति को देखते ही लड़की परेशान हो उठती है. वह इशारों में कहती है कि यह व्यक्ति उससे दूर रहे और उसके कक्ष से तुरंत बाहर निकल जाए.

भाषा इनपुट के साथ

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.