राजस्थान में आदिवासी महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया, सीएम अशोक गहलोत ने दी ये प्रतिक्रिया, बीजेपी हुई हमलावर

105

राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले से एक ऐसी घटना सामने आई है जो पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया है. दरअसल, यहां के एक गांव में चौंकाने वाली घटना में एक आदिवासी महिला को कथित तौर पर निर्वस्त्र कर घुमाया गया. मामले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान भी सामने आया है. उन्होंने कहा है कि प्रतापगढ़ जिले में पीहर और ससुराल पक्ष के आपसी पारिवारिक विवाद में ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा एक महिला को निर्वस्त्र करने का एक वीडियो सामने आया है. पुलिस महानिदेशक को एडीजी क्राइम को मौके पर भेजने एवं इस मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. सभ्य समाज में इस तरह के अपराधियों की कोई जगह नहीं है. इन अपराधियों को जल्द से जल्द सलाखों के पीछे डालकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर सजा दिलवाई जाएगी.

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आ गई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने शुक्रवार रात अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अपराध) दिनेश एमएन को प्रतापगढ़ भेजा. धरियावद के थाना प्रभारी पेशावार खान ने बताया कि गुरुवार को थाने क्षेत्र के पहाड़ी गांव में 21 वर्षीय महिला को उसके पूर्व पति काना और अन्य रिश्तेदारों ने निर्वस्त्र कर घुमाया. उन्होंने बताया कि महिला के पूर्व पति काना सहित तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है ओर अन्य लोगों की तलाश की जा रही है.

पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने शुक्रवार देर रात जयपुर में कहा कि राज्य सरकार ने घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और एडीजी दिनेश एमएन को प्रतापगढ़ भेजा गया है. उन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छह टीम गठित की गई हैं. प्रतापगढ़ पुलिस अधीक्षक अमित कुमार गांव में कैंप कर रहे हैं. मुख्यमंत्री गहलोत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा कि एक महिला को निर्वस्त्र करने का वीडियो सामने आया है. सभ्य समाज में ऐसी घटनाओं का कोई स्थान नहीं है.

जे.पी. नड्डा ने क्या कहा

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने कहा कि राजस्थान के प्रतापगढ़ का वीडियो चौंकाने वाला है. राजस्थान में शासन व्यवस्था पूरी तरह से नदारद है. मुख्यमंत्री और मंत्री गुटीय झगड़ों को निपटाने में व्यस्त हैं. इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि राज्य में महिला सुरक्षा के मुद्दे को पूरी तरह से नजरअंदाज किया जा रहा है. आए दिन महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न की कोई न कोई घटना सामने आती रहती है. राजस्थान के लोग राज्य सरकार को सबक सिखाएंगे.

वसुंधरा राजे ने क्या कहा

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि लोगों के सामने गर्भवती महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने का वीडियो वायरल हुआ लेकिन प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं हुई. उन्होंने कहा कि इस घटना ने राजस्थान को शर्मसार कर दिया है. बीजेपी की नेता ने लोगों से सोशल मीडिया पर वीडियो साझा नहीं करने की भी अपील की.

नागराज मीणा ने क्या कहा

नागराज मीणा (कांग्रेस विधायक, धरियावद विधानसभा, प्रतापगढ़) ने कहा कि इस घटना की जानकारी मुझे रात करीब 9 बजे हुई. उसके बाद मैंने जिला कलेक्टर और जिला पुलिस अधीक्षक से बात की. इस घटना की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है. ऐसी घटना नहीं होनी चाहिए. पुलिस इस पर तत्परता से कार्रवाई करेगी.

सतीश पूनिया की प्रतिक्रिया

सतीश पूनिया (उपनेता प्रतिपक्ष, राजस्थान विधानसभा) ने कहा कि ये घटना हृदयविदारक है. मुझे लगता है कि राजस्थान में कानून-व्यवस्था जो बिगड़ी है खासकर की महिलाओं के प्रति जो उत्पीड़न और अपराधों की जो घटनाएं हुई हैं उस श्रृखंला में इस तरीके की ये दरिंदगी की घटना जुड़ गई है जिसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है….ये दरिंदगी चीख-चीख कह रही है कि अशोक गहलोत जी की पूरी निष्ठा सियासत और कुर्सी बचाने में है लेकिन किसी महिला की इज्जत कैसे बचे इसमें उनकी निष्ठा कभी नहीं दिखी….हम चाहते हैं कि अपराधियों को फास्ट ट्रैक के जरिए तत्काल से तत्काल सजा मिले.

प्रतापगढ़ के एसपी ने क्या कहा

अमित कुमार (एसपी, प्रतापगढ़, राजस्थान) ने कहा कि प्रतापगढ़ जिले में धरियावद थाना क्षेत्र में एक वीडियो वायरल होने का मामला संज्ञान में आया है जिसमें एक महिला को निर्वस्त्र कर परेड कराया गया है. मामला संज्ञान में आने के बाद हमने तुरंत कार्रवाई करते हुए जिले में 6 टीमों का गठन किया. पीड़िता पक्ष द्वारा FIR दर्ज कराया जा रहा है. पुलिस पूरा प्रयास करेगी कि जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए.

डीजीपी ने क्या कहा

उमेश मिश्रा (डीजीपी, राजस्थान पुलिस, जयपुर ) ने कहा कि ये घटना बहुत ही बर्बरतापूर्ण है. इस घटना के बारे में स्थानीय पुलिस को आज शाम को पता चला. घटना के पता चलते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंचकर इस घटना की पूरी जानकारी ली और कानूनी कार्रवाई शुरू की. घटना में ससुराल पक्ष के लोग जो भी शामिल हैं उन्हें चिन्हित कर लिया गया है. हमारी टीमें लगातार दबिश दे रही हैं. मुझे यकीन है कि रात में ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.