Torrent Power Share Price: पावर सेक्टर के इस शेयर को खरीदने टूट पड़े लोग, गुजरात में हुए समझौते का दिखा असर

25

Torrent Power Share Price: टोरेंट पावर ने नवीकरणीय ऊर्जा, हरित हाइड्रोजन और बिजली वितरण में 47,350 करोड़ रुपये का निवेश करने के लिए गुजरात सरकार के साथ चार समझौते किए हैं. कंपनी की ओर से बुधवार को देर रात जारी एक बयान के अनुसार, टोरेंट समूह की कंपनी टोरेंट पावर लिमिटेड ने वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक शिखर सम्मेलन के 10वें संस्करण के तहत गुजरात सरकार के साथ चार गैर-बाध्यकारी समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किया है. गांधीनगर में टोरेंट पावर और गुजरात ऊर्जा विकास एजेंसी (GEDA) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए. टोरेंट समूह के चेयरमैन समीर मेहता ने बयान में कहा कि टोरेंट पावर अपने भविष्य के निवेश का एक महत्वपूर्ण हिस्सा नवीकरणीय उत्पादन, पंप भंडारण पनबिजली परियोजनाओं, हरित हाइड्रोजन/हरित अमोनिया उत्पादन तथा बिजली वितरण की प्रमुख राष्ट्रीय प्राथमिकताओं में लगाने का इरादा रखता. नये समझौते से कंपनी के शेयरों में तेज उछाल आया है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर स्टॉक का भाव करीब 10 प्रतिशत तक उछल गया.

to
Torrent Power Share Price

क्या है शेयर का भाव

भारतीय शेयर बाजार में आज तूफानी तेजी देखने को मिल रही है. सेंसेक्स सुबह 11.38 बजे 0.64 प्रतिशत यानी 455.29 अंक की तेजी के साथ 71,811.89 पर कारोबार कर रहा था. वहीं, निफ्टी 0.58 प्रतिशत यानी 124.25 अंक की तेजी के साथ 21,641.60 पर आगे की तरफ बढ़ रहा है. इस बीच, एक्सचेंज में टोरेंट पावर के गुजरात में हुए समझौते के कारण तेजी देखने को मिली. कंपनी के शेयर 9.47 प्रतिशत यानी 89.40 अंक टूटकर 1,033.70 पर कारोबार कर रहा था. आज टोरेंट के शेयर 21,605.80 रुपये पर खुला था. जो कारोबार के दौरान, सुबह 11.10 बजे 21,659.35 रुपये के अधिकतम स्तर पर पहुंच गया. हालांकि, पिछले 52 सप्ताह में कंपनी के शेयर 21,834.35 के स्र पर पहुंच गया था. वहीं, पिछले एक महीने में कंपनी के निवेशकों को 4.64 प्रतिशत यानी 959.25 रुपये प्रति शेयर का मुनाफा हुआ है. जबकि, छह महीने में निवेशकों की झोली में 11.64 प्रतिशत यानी 2,257.05 रुपये प्रति शेयर का मुनाफा आया है. टोरेंट पावर के निवेशकों को एक साल में करीब 20 प्रतिशत का मुनाफा मिला है.

क्या करती है टोरेंट पावर कंपनी

टोरेंट पावर एक भारतीय ऊर्जा और बिजली कंपनी है, जिसकी बिजली उत्पादन, पारेषण, वितरण और विनिर्माण और बिजली केबलों की आपूर्ति करती है. कंपनी की स्थापना 19 अप्रैल 1997 को हुई थी. जिनल मेहता कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. कंपनी के जुलाई-सितंबर 2023 के तिमाही नतीजों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. इस दौरान कंपनी का मुनाफा बढ़कर 525.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है, जबकि एक साल पहले इस तिमाही में कंपनी का मुनाफा 481.7 करोड़ रुपये पर था. कंपनी के मुनाफे में ये बढ़ोतरी करीब 9 फीसदी की है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.