महुआ मोइत्रा मामला: एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पर लोकसभा में बहस, क्या TMC सांसद की जाएगी सदस्यता?

6

टीमएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ पैसे लेकर सवाल पूछने के आरोप में एथिक्स कमेटी ने लोकसभा में अपनी रिपोर्ट पेश कर दी है. रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद टीएमसी सांसदों ने सदन में भारी हंगामा किया, जिसके कारण लोकसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है. कमेटी ने रिपोर्ट में महुआ की संसद सदस्यता रद्द करने की सिफारिश की है. लोकसभा में बीजेपी के विजय सोनकर ने एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पेश की. रिपोर्ट पर इस समय लोकसभा में चर्चा हो रही है. अध्यक्ष ओम बिरला ने चर्चा के लिए आधे घंटे का समय दिया है. इस पर भी विपक्ष ने सवाल उठाया और समय बढ़ाने की मांग की.

मोइत्रा की संसद सदस्यता खत्म करने प्रस्ताव

एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद महुआ मोइत्रा की संसद सदस्यता खत्म करने का प्रस्ताव लाया गया है. एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट में महुआ मोइत्रा पर लगे आरोप को गंभीर बताया गया है. भारतीय जनता पार्टी ने संसद में अपने सांसदों की उपस्थिति को लेकर गुरुवार को व्हिप जारी किया.

एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पर महुआ मोइत्रा बोलीं- हमें अभी तक यह नहीं मिला

लोकसभा में एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पेश होने के बाद टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा संसद से बाहर चली गईं. उन्होंने कहा, हमें अभी तक यह नहीं मिला है. मीडिया के सवाल पर उन्होंने कहा, मुझे अपना दोपहर का भोजन करने दो और वापस आने दो. जो भी होना है, दोपहर 2 बजे के बाद होगा.

बीजेपी ने अपने सांसदों के लिए जारी किया व्हिप

बीजेपी ने लोकसभा के अपने सभी सांसदों को 8 दिसंबर 2023 को सदन में उपस्थित रहने के लिए एक लाइन व्हिप जारी किया है. पार्टी की ओर से कहा गया कि कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण विधायी कार्यों पर चर्चा की जाएगी और सरकार के रुख का समर्थन किया जाएगा.

महुआ मोइत्रा पर क्या है आरोप

दरअसल तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा पर ‘पैसे लेकर सवाल पूछने’ का आरोप लगा है. इस मामले को लेकर उनको निष्कासित करने की सिफारिश की गई है. महुआ मोइत्रा पर बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने आरोप लगाया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि महुआ ने बिजनेसमैन दर्शन हीरानंदानी के कहने पर संसद में अदाणी ग्रुप और पीएम मोदी पर लगातार हमला बोला और इसी मुद्दे से जुड़े सवाल उठाए. दुबे ने आरोप लगाया था, इसके बदले बिजनेसमैन से महुआ को गिफ्ट्स मिले थे. महुआ पर ये भी आरोप लगे थे कि उन्होंने अपनी संसदीय आईडी का लॉगइन पासवर्ड व्यापारी के साथ शेयर किया था.

एथिक्स कमेटी ने 9 नवंबर को मोइत्रा के आरोपों पर निष्कासित करने की सिफारिश को स्वीकार किया था

समिति ने 9 नवंबर को अपनी एक बैठक में मोइत्रा को ‘पैसे लेकर सदन में सवाल पूछने’ के आरोपों में लोकसभा से निष्कासित करने की सिफारिश करने वाली रिपोर्ट को स्वीकार किया था. समिति के छह सदस्यों ने रिपोर्ट के पक्ष में मतदान किया था. इनमें कांग्रेस से निलंबित पार्टी सांसद परणीत कौर भी शामिल थीं. समिति के चार विपक्षी सदस्यों ने रिपोर्ट पर असहमति नोट दिए थे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.