MS Dhoni ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप में इस पाकिस्तानी बल्लेबाज को जैसे परखा था वो अद्भुत था’

0 136

नई दिल्ली,  MS Dhoni की क्रिकेटिया ब्रेन का लोहा दुनिया के बड़े-बड़े दिग्गज मानते हैं। खेल को परखने की जितनी क्षमता धौनी में है उस तरह की काबिलियत हर किसी में नहीं होती और यही वजह रही कि वो टीम इंडिया के कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा सफल भी रहे। एम एस ने इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट 15 अगस्त को ही ले ली थी हालांकि वो अभी आइपीएल 2020 में खेलते नजर आएंगे। अब टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच को याद किया। दरअसल इस टूर्नामेंट को धौनी की कप्तानी में भारत ने जीता था।

आरपी सिंह ने कहा कि एम एस में क्रिकेट की समझ गजब की थी और फाइनल मैच में पाकिस्तानी बल्लेबाज कामरान अकमल के विकेट को पहले ही भांप लिया था। आरपी ने कहा कि वो कामरान अकमल के लिए दूसरी तरह से फील्ड की सेटिंग करना चाहते थे, लेकिन धौनी ने उनसे कहा कि जिस तरह की फील्डिंग सेट है उसी के साथ खेल जारी रखना चाहिए। क्रिकेट डॉट कॉम से बात करते हुए आरपी ने बताया कि धौनी ने कामरान की बल्लेबाजी को जिस तरह से पढ़ लिया था उससे मैं हैरान था।

आरपी ने कहा कि साल 2007 टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में मुझे ये पता लगा कि वो बहुत ही स्पेशल खिलाड़ी हैं। वो वैसे धौनी नहीं थे जिनसे मैं पहली बार मिला था। अगर आप गौर से देखो तो उस वर्ल्ड कप में धौनी की बल्लेबाजी बहुत बेहतरीन नहीं रही थी, लेकिन उनकी मौजूदगी हर मैच में थी। फाइनल मैच में उन्होंने मुझसे कहा कि कामरान को बोल्ड किया जा सकता है क्योंकि उनका पैर मूव नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि तुम सबकुछ भूलकर सिर्फ लाइन व लेंथ के साथ गेंदबाजी करो।

आरपी ने कहा कि मैंन महसूस किया कि वो बल्लेबाज को पढ़ने में माहिर हैं क्योंकि मैं अकमल को अलग तरह के गेंदबाजी कर रहा था साथ ही मैंने उनके लिए अलग फील्ड सेटिंग की भी बात कही थी, लेकिन उन्होंने जिस तरह से मुझे समझाया उसे फॉलो करना आसान था। उस फाइनल में आरपी सिंह ने तीन विकेट लिए थे और भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया था। ये मैच जोहानसबर्ग में खेला गया था। भारत ने पहली बार धौनी की कप्तनी में टी20 वर्ल्ड कप 2007 का खिताब जीता था।