तमिलनाडु के थियेटर्स में नहीं दिखाई जाएगी ‘द केरल स्टोरी’, मल्टीपलेक्स संगठनों ने इस वजह से लिया फैसला

24

The Kerala Story ban in Tamil Nadu: सुदीप्तो सेन की ओर से निर्देशित 5 मई को काफी विवादों के बाद द केरल स्टोरी सिनेमाघरों में रिलीज हुई. रिलीज से पहले ही फिल्म विवादों में घिर गई थी. सभी तरफ इसको लेकर विरोध-प्रदर्शन चल रहा था. कई लोगों ने तो इसे प्रोपेगंडा फिल्म बताते हुए इसे बैन करने की मांग की थी. कहानी केरल की तीन महिलाओं के बारे में है, जिनका ब्रेनवॉश किया जाता है और इस्लाम में परिवर्तित हो जाती हैं. फिर उन्हें आईएसआईएस में शामिल होने के लिए ले जाया जाता है. निर्माताओं ने दावा किया है कि फिल्म सच्ची घटनाओं पर आधारित है और यही विवाद का विषय बन गया. अब खबर है कि तमिलनाडु में द केरल स्टोरी की स्क्रीनिंग पर रोक दी गई है.

तमिलनाडु में द केरल स्टोरी की स्क्रीनिंग पर रोक

द केरल स्टोरी यूं तो पूरे देश में रिलीज हुई और दो दिनों में इसने अच्छा बिजनेस किया. हालांकि अब तमिलनाडु की मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने थिएटर्स में फिल्म दिखाने से इनकार कर दिया है. जानकारी के अनुसार तमिलनाडु मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने कहा कि पूरे राज्य में सभी थियेटर्स में द केरल स्टोरी की स्क्रिनिंग को रोक दिया गया है, ऐसा इसलिए क्योंकि जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं. जिससे लॉ एंड ऑर्डर का खतरा बढ़ गया है.

एनटीके ने किया जमकर प्रदर्शन

बता दें कि तमिलनाडु में नाम तमिलर काची (एनटीके) ने चेन्नई में ‘द केरल स्टोरी’ की रिलीज के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने स्काईवॉक मॉल के पास चेन्नई अन्ना नगर आर्च में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. विरोध के लिए सीमन के आह्वान के बाद, एनटीके के कार्यकर्ताओं ने द केरल स्टोरी की स्क्रीनिंग के खिलाफ थिएटर के अंदर एक विरोध प्रदर्शन किया. हालांकि बाद में उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया. वेो लोग फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के नारे लगा रहे थे.

द केरल स्टोरी पर विवाद

‘द केरल स्टोरी’ के ट्रेलर के आउट होने के बाद एक विवाद खड़ा हो गया और इसमें दावा किया गया कि राज्य की 32,000 लड़कियां लापता हो गईं और बाद में आतंकवादी समूह, आईएसआईएस में शामिल हो गईं. हालांकि, केरल उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को बहुभाषी फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ की रिलीज पर रोक लगाने से इनकार कर दिया और कहा कि ट्रेलर में किसी विशेष समुदाय के लिए कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. फिल्म के निर्माता ने केरल उच्च न्यायालय को आश्वासन दिया कि वे अपने सोशल मीडिया हैंडल पर विवादास्पद टीजर को आगे प्रदर्शित नहीं करेंगे. इसी बीच, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को राज्य में ‘द केरल स्टोरी’ को ट्रैक्स फ्री करने की घोषणा की.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.