Delhi NCR Weather Forecast: दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में बढ़ेगा तापमान, बारिश का नहीं है पूर्वानुमान

0 139

दिल्ली न्यूज़ 24 रिपोर्टर। दिल्ली-एनसीआर के मौसम में आगामी कुछ दिनों के दौरान बड़ा बदलाव दिखाई देगा। सर्दी के बाद पश्चिमी विक्षोभ का असर भी समाप्त होने वाला है, ऐसे में गर्मी में तेजी से इजाफ होगा और तापमान में भी बढ़ोतरी होगी।

जल्द होगा तापमान में इजाफा

स्काईमेट वेदर (Skymet Weather) के मुताबिक, देश के ज्यादातर भागों में मौसम साफ और शुष्क रहेगा। इसी के साथ दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर, मध्य और पूर्वी भारत के प्रदेशों में धीरे-धीरे न्यूनतम और अधिकतम तापमान में इजाफा देखने को मिलेगा। भारतीय मौमस विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) के पूर्वानुमान के मुताबिक, पहाड़ी राज्यों में हो रही बारिश और बर्फबारी के चलते दिल्ली-एनसीआर में गर्मी का प्रकोप अभी थोड़ा रुक-रुक होगा, लेकिन यह भी माना जा रहा है कि अप्रैल के दूसरे सप्ताह में दिल्ली-एनसीआर का अधिकतम तापमान 40 डिग्री तक पहुंच जाएगा। स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ के असर से बृहस्पतिवार को आंशिक रूप से बादल तो छाए रहेंगे, हवा भी चलने के आसार हैं। लेकिन बारिश होने और गर्मी या तापमान में बदलाव की संभावना नहीं है। ऐसे में अप्रैल के दूसरे सप्ताह में गर्मी बढ़ जाएगी और तापमान में भी इजाफा होगा।

उत्तर भारत के मौसम में नहीं होगा कोई खास बदलाव

वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे हिस्सों में सक्रिय है। इसके प्रभाव से विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र इस समय पूर्वी राजस्थान पर है। बावजूद इसके मौसम में ज्यादा बदलाव नहीं होगा।

दिल्ली के इतिहास का सबसे ज्यादा सर्द रहा मार्च महीना

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की मानें तो दिल्ली के इतिहास का सबसे ठंडा मार्च महीना रहा है। मौसम विभाग के आकड़े भी इसके पक्ष में हैं। दरअसल, पूर्व में दिल्ली में मार्च महीने में औसतन तापमान 29.6 डिग्री सेल्सियस रहता है, जबकि यह इस साल 28.4 डिग्री सेल्सियस रहा है। कहने का मतलब पूरे एक डिग्री कम। मौसम विज्ञानियों के नजरिये से यह साधारण बात नहीं है।