Tata Power: अनुमान से आगे निकल गया टाटा का ये शेयर, तूफानी तेजी में निवेश से पहले जानें विशेषज्ञों की सलाह

7

Tata Power Share: भारतीय शेयर बाजार बुधवार को तूफानी तेजी देखने को मिल रही है. सुबह 11.45 बजे सेंसेक्स 0.69 प्रतिशत यानी 492.88 अंक की तेजी के साथ 71,829.67 कारोबार कर रहा था. जबकि, निफ्टी 0.70 प्रतिशत यानी 150.35 अंक की तेजी के साथ 21,591.70 पर कारोबार कर रहा है. इस बीच देश की सबसे पुराने उद्योग घराने टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा पावर में तेजी देखने को मिल रही है. इसी महीने कंपनी के शेयर 52 सप्ताह के हाई पर पहुंच गया है. कंपनी का मार्केट कैप 103896.47 रुपये के आसपास है. पिछले एक साल में कंपनी ने निवेशकों को करीब 56 प्रतिशत का रिटर्न दिया है. आज से ठीक एक साल पहले 27 दिसंबर 2022 को, कंपनी के शेयर 207.70 रुपये पर थे. वहीं, आज 329.90 पैसे पर कारोबार कर रहा है. बीते एक महीने में कंपनी के शेयर से निवेशकों को करीब 20.94 प्रतिशत का मुनाफा हुआ है. ऐसे में ब्रोक्रेज फर्म का अनुमान है कि आने वाले साल में भी कंपनी के शेयर में तेजी जारी रहेगी. इसे देखते हुए टार्गेट को 342 रुपये कर दिया है. इससे पहले अनुमान 300 रुपये का लगाया गया था.

क्या है स्टॉक की चाल

इसी साल, 8 दिसंबर, 2023 को 335.80 रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर को छू लिया था. यह 335.25 रुपये के इंट्राडे हाई तक पहुंच गया. स्टॉक ने दिसंबर में चार सत्रों के लिए नई रिकॉर्ड ऊंचाई बनाई. टाटा पावर का स्टॉक 6 दिसंबर को 6% बढ़कर 298.60 रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था. टाटा समूह के स्टॉक ने 7 अप्रैल, 2022 को 298 रुपये के पिछले रिकॉर्ड उच्च स्तर को पार कर लिया था. वहीं, अगले सत्र में, स्टॉक बीएसई पर 9.58% की बढ़त के साथ 300 रुपये के स्तर को पार कर 322.30 रुपये की नई ऊंचाई पर पहुंच गया. विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले दिनों में कंपनी के शेयर नया कीर्तिमान बनाया जा सकता है.

तीन वर्षों में 60,000 करोड़ रुपये निवेश करेगी कंपनी

ऊर्जा क्षेत्र की कंपनी टाटा पावर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक प्रवीर सिन्हा ने बताया था कि कंपनी अगले तीन वर्षों में 60,000 करोड़ रुपये निवेश करेगी जिसका आधा हिस्सा नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में लगाया जाएगा. प्रवीर सिन्हा ने जानकारी देते हुए कहा कि इस अवधि में कंपनी कोयला पर आधारित किसी नई संयंत्र को नहीं जोड़ेगी. वर्तमान में कंपनी का कुल मार्केट कैप टाटा.कॉम के अनुसार, 86513.82 करोड़ रुपये की है. टाटा पावर वित्त वर्ष 2023-24 में 15,000 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है जो वित्त वर्ष 2024-25 में बढ़कर करीब 20,000 करोड़ रुपये हो जाएगा. इसके वित्त वर्ष 2025-26 में 22,000 करोड़ रुपये और 2026-27 में 23,000 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. इस तरह अगले तीन वित्त वर्षों में टाटा पावर का कुल पूंजीगत व्यय 60,000 करोड़ रुपये से अधिक रहेगा. उन्होंने कहा कि 13,000 करोड़ रुपये के निवेश से 2,800 मेगावाट की दो जल-विद्युत पंप भंडारण परियोजनाएं (पीएसपी) स्थापित करने की पिछली घोषणा के साथ ही कंपनी ने 9,000 मेगावाट क्षमता वाली ऐसी तीन अन्य परियोजनाएं भी चिह्नित की हैं. ये परियोजनाएं महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के पोटलपली, कटालधारा और नेनावली में मौजूद हैं. इसके साथ ही कंपनी ने भिवपुरी और शिरवटा स्थित दो पीएसपी से पैदा होने वाली बिजली के लिए कोई खरीदा समझौता नहीं किया है. उन्होंने इन परियोजनाओं को सौर और पवन ऊर्जा क्षमता से जोड़ने के भी संकेत दिए.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.