24 घंटे में ऐसा क्या बदल गया? सनी देओल के जुहू वाले बंगले की नीलामी पर लगी रोक तो कांग्रेस ने उठा दिये सवाल

21

बॉलीवुड अभिनेता और भाजपा सांसद सनी देओल के बंगले की ई-नीलामी ने उस समय राजनीतिक मोड़ ले लिया, जब कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बैंक के यू-टर्न या यूं कहे सोमवार को नीलामी वापस लेने पर सवाल खड़ा कर दिया. पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने पूछा कि आखिर ‘तकनीकी कारणों’ का हवाला देने के लिए बैंक को किसने प्रेरित किया? बता दें कि बीते दिनों खबर आई कि सनी देओल को दिए गए 56 करोड़ रुपये के कर्ज की वसूली के लिए एक्टर के आलीशान मुंबई विला की नीलामी की जाएगी. बैंक ने अखबार में एक नोटिस निकाला, जिसमें ई-नीलामी और अवैतनिक ऋण के विवरण की घोषणा की गई.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने किया ट्वीट

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा, “कल दोपहर को देश को पता चला कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने भाजपा सांसद सनी देओल के जुहू स्थित आवास को ई-नीलामी के लिए रखा है, क्योंकि उन्होंने बैंक के 56 करोड़ रुपये का भुगतान नहीं किया. आज सुबह, 24 घंटे से भी कम समय में, देश को पता चल गया है कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने ‘तकनीकी कारणों’ से नीलामी नोटिस वापस ले लिया है, आश्चर्य है कि इन ‘तकनीकी कारणों’ को किसने शुरू किया?” इससे पहले, एक आश्चर्यजनक कदम में, बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपना फैसला बदल दिया और मुंबई के जुहू में अभिनेता के विला को नीलामी से वापस ले लिया.

नीलामी से 56 करोड़ रुपये की होगी वसूली

राज्य के स्वामित्व वाले बैंक ऑफ बड़ौदा ने 25 अगस्त को होने वाली ई-नीलामी के माध्यम से 56 करोड़ रुपये की वसूली के लिए अभिनेता और मौजूदा भाजपा सांसद सनी देओल की संपत्ति को ब्लॉक कर दिया. गुरदासपुर के सांसद ने दिसंबर 2022 से बैंक से 55.99 करोड़ रुपये के ऋण, ब्याज और जुर्माने पर चूक कर रहे थे. बैंक, ने महानगर के टोनी जुहू इलाके में गांधीग्राम रोड पर स्थित सनी देओल के विला की संपत्ति कुर्क की. उन्होंने नीलामी के लिए आरक्षित मूल्य 51.43 करोड़ रुपये और 5.14 करोड़ रुपये की बयाना राशि तय की है. सनी देओल की विला के अलावा, 599.44 वर्ग मीटर की संपत्ति में सनी साउंड्स भी है, जो कि देओल्स के स्वामित्व में है, और ऋण का कॉर्पोरेट गारंटर है, जबकि उनके अभिनेता-राजनेता पिता धर्मेंद्र ऋण के व्यक्तिगत गारंटर हैं.

क्या है पूरा मामला

बैंक के प्रवक्ता ने पीटीआई को कोई अन्य विवरण नहीं दिया, जैसे कि अभिनेता ने कब और कितना ऋण लिया था और ऋण के लिए उनके पास क्या अन्य गारंटी है. निविदा नोटिस में आगे कहा गया है कि 2002 के सरफेसी अधिनियम के प्रावधानों के तहत होने वाली नीलामी को रोकने के लिए देओल्स के पास अभी भी बैंक को बकाया चुकाने का विकल्प है. अभिनेता को आधिकारिक तौर पर अजय सिंह धर्मेंद्र देओल के नाम से जाना जाता है और वह 2019 से पंजाब सीट से सत्तारूढ़ भाजपा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, जब उन्होंने तत्कालीन कांग्रेस सदस्य सुनील झाकर को हराकर भारी अंतर से सीट जीती थी. लंबे समय तक इस सीट का प्रतिनिधित्व कांग्रेस के लिए एक अन्य अभिनेता विनोद खन्ना ने किया था.

गदर 2 बॉक्स ऑफिस पर मचा रही धमाल

वर्कफ्रंट की बात करें तो सनी देओल की 11 अगस्त को रिलीज हुई गदर 2 बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है. फिल्म को दर्शकों से भरपूर प्यार मिल रहा है. इसमें एक्टर एक बार फिर तारा सिंह के दमदार रोल में नजर आ रहे हैं. गदर 2 में अभिनेता अपने बेटे को बचाने के लिए पाकिस्तान जाता है और दुश्मनों के छक्करे छुड़ाता है. तारा सिंह का आइकॉनिंक हैंडपंप और हथौड़ा वाला सीन काफी वायरल हुआ. फिल्म ने दूसरे वीकेंड पर शाहरुख खान की फिल्म पठान का रिकॉर्ड तोड़ दिया. 31.07 करोड़ रुपये के साथ दूसरे शनिवार को सबसे बड़ा रिकॉर्ड बनाने के बाद, फिल्म ने रविवार, 20 अगस्त को भारत में लगभग 41 करोड़ रुपये की कमाई की. ‘गदर 2’, जल्द ही 400 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर सकती है. सनी देओल और अमीषा पटेल के एक बार फिर साथ आने से, ‘गदर 2’ देशभर के सिनेमाघरों में बड़ी संख्या में दर्शकों को खींचने में कामयाब रही है. फिल्म का कुल बॉक्स ऑफिस कलेक्शन अब 377.20 करोड़ रुपये (नेट) हो गया है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.