गोगामेड़ी हत्याकांड: करणी सेना की चेतावनी, 72 घंटों में हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई, तो…

14

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की गोली मारकर हत्या के विरोध में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं. गोगामेड़ी के समर्थक हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. बुधवार को राजस्थान बंद के बाद संगठन के कार्यकर्ताओं ने इंदौर से उज्जैन को जोड़ने वाले बेहद व्यस्त मार्ग पर चक्काजाम कर दिया. इस दौरान करणी सेना ने प्रशासन को चतावनी भी दे डाली.

करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने 72 घंटों के अंदर हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की

विरोध प्रदर्शन के दौरान करणी सेना के कार्यकर्ता इंदौर-उज्जैन रोड के लवकुश चौराहे पर सड़क पर बैठ गए जिससे वाहनों की कतारें लग गईं. हालांकि पुलिस के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर चक्काजाम खत्म कराया. करणी सेना के नेता अनुराग प्रताप सिंह राघव ने कहा कि अगर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों के खिलाफ 72 घंटों में उचित कार्रवाई नहीं की गई, तो इन हत्यारों को करणी सेना अपने तरीके से जवाब देगी.

राजस्थान पुलिस ने 72 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी का दिया आश्वासन

राघव ने बताया कि करणी सेना और अन्य राजपूत संगठनों ने गोगामेड़ी की हत्या के खिलाफ गुरुवार को समूचे मध्यप्रदेश में बंद का आह्वान किया था, लेकिन राजस्थान पुलिस द्वारा 72 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद यह आह्वान वापस ले लिया गया.

अबतक नहीं हो पाई हत्यारों की गिरफ्तारी

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या मंगलवार को उनके घर पर कर दी गई थी. उसके बाद से दो दिन गुजर गए हैं, लेकिन अबतक हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. हालांकि पुलिस के अनुसार, हमलावरों की पहचान कर ली गई है और उनकी गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाया जा रहा है. हमलावरों की सूचना देने वाले को पांच-पांच लाख रुपये के इनाम की घोषणा भी की गई है. राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) उमेश मिश्रा ने गोगामेड़ी हत्याकांड की सघन जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी-अपराध) दिनेश एमएन की निगरानी में एसआईटी गठित की है. जयपुर के पुलिस आयुक्त बीजू जार्ज जोसेफ ने बताया एक आरोपी हरियाणा का है और दूसरा राजस्थान का है.

गैंगस्टर रोहित गोदारा ने हत्या की जिम्मेदारी ली

फेसबुक पोस्ट पर गैंगस्टर रोहित गोदारा ने हत्या की कथित जिम्मेदारी ली है और कहा है कि गोगामेड़ी को उसके दुश्मनों का समर्थन करने के लिए मार दिया गया. गोदारा को लॉरेंस बिश्नोई गिरोह से जुड़ा हुआ बताया जाता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.