S&P Global Report: जापान से भी बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाला है भारत, जानें संस्थान ने क्यों किया ये बड़ा दावा

39

S&P Global Marketing Report: बीत दस वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) ने कई बड़े मुकाम हासिल किया है. भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना हुआ है. पूरी दुनिया भारत को ग्लोबल इकोनॉमी के लिए एक ट्रिगर के रुप में देख रही है. ऐसे में S&P Global Marketing ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर अपने रिपोर्ट में एक बड़ा दावा किया है. संस्थान का मानना है कि भारत 2030 तक जापान की अर्थव्यवस्था को काफी पीछे छोड़कर विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था और एशिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. रिपोट में कहा गया है कि भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और 2030 तक 7300 अरब अमेरिकी डॉलर की जीडीपी के साथ जापान को पछाड़कर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की संभावना है. वहीं एशिया में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. एसएंडपी ग्लोबल इंडिया विनिर्माण ने अपने नवीनतम खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) में यह बात कही.

2023 में भारत में जारी रहेगी मजबूती

वर्ष 2021 और 2022 में दो वर्षों की तीव्र आर्थिक वृद्धि के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था ने 2023 वित्त वर्ष में भी निरंतर मजबूत वृद्धि दिखाना जारी रखा. मार्च 2024 में समाप्त होने वाले वित्त वर्ष में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 6.2-6.3 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है. इससे भारतीय अर्थव्यवस्था इस वित्त वर्ष में सबसे तेजी से बढ़ने वाली प्रमुख अर्थव्यवस्था होगी. अप्रैल-जून तिमाही में एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7.8 प्रतिशत रही. एसएंडपी ग्लोबल ने कहा कि निकट अवधि के आर्थिक दृष्टिकोण में 2023 के शेष के समय और 2024 में निरंतर तीव्र विस्तार का अनुमान है, जो घरेलू मांग में मजबूत वृद्धि पर आधारित है. अमेरिकी डॉलर के संदर्भ में मापी गई भारत की वर्तमान कीमतों की जीडीपी 2022 में 3500 अरब अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 2030 तक 7300 अरब अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है. आर्थिक विस्तार की इस तीव्र गति के परिणामस्वरूप 2030 तक भारतीय जीडीपी का आकार जापानी जीडीपी से अधिक हो जाएगा, जिससे भारत एशिया-प्रशांत क्षेत्र में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. अमेरिका वर्तमान में 25500 अरब अमेरिकी डॉलर की जीडीपी के साथ दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. इसके बाद चीन 18000 अरब अमेरिकी डॉलर के साथ दूसरी और जापान 4200 अरब डॉलर के साथ तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. वहीं भारतीय जीडीपी का आकार 2022 तक ब्रिटेन और फ्रांस की जीडीपी से भी बड़ा हो चुका था. 2030 तक भारत की जीडीपी जर्मनी से भी आगे निकलने का अनुमान है.

2075 तक विश्व की दूसरे सबसे बड़ी इकोनॉमी बनेगा भारत

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) और Goldman Sachs ने भी भारत समेत दुनिया की पांच बड़ी अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ा दावा किया है. दोनों संस्थाओं ने अपने रिपोर्ट में वर्ष 2075 तक विश्व की पांच सबसे बड़ी इकोनॉमी के नाम और साइज के बारे में जानकारी दी है. इस लिस्ट में सबसे टॉप पर चीन का नाम है. दावा किया जा रहा है कि 2075 तक चीन की अर्थव्यवस्था 19.374 ट्रिलियन डॉलर से बढ़कर 57 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा. जबकि, IMF और Goldman Sachs का कहना है कि भारत 52.5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के साथ विश्व की दूसरे नंबर पर पहुंच जाएगा. वर्तमान में भारत की जीडीपी 3.737 ट्रिलियन डॉलर की है. जबकि, बताया जा रहा है कि वर्तमान में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश भारत 2075 तक तीसरे स्थान पर चला जाएगा. वर्तमान में अमेरिका की अर्थव्यवस्था 26.855 ट्रिलियन डॉलर की है जो उस वक्त 51.5 ट्रिलियन डॉलर के आसपास रहेगी. दुनिया में चौथे स्थान पर इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था होगी. उस वक्त इस देश की अर्थव्यवस्था 13.7 ट्रिलियन डॉलर की होगी, जो वर्तमान में केवल 2 ट्रिलियन डॉलर की है. इस बीच नाइजीरिया की अर्थव्यवस्था काफी तेजी से उभरेगी. 2075 तक नाइजीरिया की इकोनॉमी 0.5 ट्रिलियन डॉलर से बढ़कर 13.1 ट्रिलियन डॉलर हो जाएगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.