शास्त्री भवन के कुछ हिस्से सील, कानून मंत्रालय के अफसर के कोरोना पॉजिटिव आने पर लिया फैसला

0 154

शास्त्री भवन में कानून मंत्रालय का अधिकारी कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसके बाद शास्त्री भवन के कुछ हिस्सों को सील कर दिया गया है।

नयी दिल्ली/ दिल्ली न्यूज़24 रिपोर्टर। पिछले कुछ दिनों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों ने सरकार की भी चिंता बढ़ा दी है। इस बीच दिल्ली में कोरोना वायरस का नया मामला सामने आया है। मिली जानकारी के मुताबिक, शास्त्री भवन में कानून मंत्रालय का अधिकारी कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसके बाद शास्त्री भवन के कुछ हिस्सों को सील कर दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, शास्त्री भवन के चौथे फ्लोर पर स्थित कानून मंत्रालय का एक अधिकारी एक मई को हुए टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव मिला था। इसके बाद एहतियातन भवन के कुछ हिस्से को सील कर दिया गया है। इसी के साथ सैनिटाइजेशन का काम किया जा रहा है। वहीं, कोरोना पॉजिटिव पाए गए अधिकारी के संपर्क में आने वाले लोगों को क्वारंटाइन के लिए कहा गया है। हालांकि, इन लोगों की भी कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की जाएगी।

यहां पर पता दें कि दिल्ली ही नहीं देश के चर्चित लुटियंस जोन की किसी सरकारी इमारत में कोरोना का मरीज पाए जाने के बाद उसे सील करने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले नीति आयोग में भी एक मामला सामने आने के बाद सील कर दिया गया था।

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या 5000 के करीब पहुंचने वाली है। कोरोना के मामले अचानक अधिक बढ़ने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग यह मान चुका है कि यहां संक्रमण लंबे समय तक बरकरार रहेगा। कम्युनिटी मेडिसिन के विशेषज्ञ तो यह भी कहने लगे हैं कि दिल्ली में अब समुदाय में संक्रमण शुरू हो चुका है। केंद्र के निर्देश पर दिल्ली की मौजूदा हालत की पड़ताल में जुटी एम्स व राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) की टीम के सदस्य भी कहते हैं कि जिस तरह के साक्ष्य सामने आ रहे हैं । उससे स्पष्ट है कि दक्षिणी पूर्वी दिल्ली, मध्य दिल्ली व उत्तर पूर्वी दिल्ली में समुदाय में संक्रमण फैल चुका है।ऐसे में अब संक्रमण को रोकना चुनौती बन चुका है। यही वजह है कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी दबी जुबान यह मानने लगे हैं कि समुदाय में संक्रमण शुरू हो चुका है। वैसे भी पिछले कुछ दिनों में इतने मामले सामने आ चुके हैं कि अब हर मरीज के बारे में यह पता लगाना मुश्किल हो चुका है कि उन्हें संक्रमण कैसे हुआ।