मणिपुर में हालात शांतिपूर्ण और नियंत्रित, पिछले 48 घंटों में हिंसा की कोई घटना नहीं

6

इंफाल : हिंसाग्रस्त मणिपुर में हालात फिलहाल शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है. मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह सरकार के सुरक्षा सलाहकार कुलदीप सिंह ने गुरुवार को कहा कि मणिपुर में हालात शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले 48 घंटों के दौरान हिंसा की कोई घटना नहीं घटी है. इसके साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह के निर्देश पर मणिपुर में विस्थापित लोगों के लिए 101.75 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी दे दी है.

कर्फ्यू में 8 से 12 घंटों तक की ढील

मणिपुर सरकार के सुरक्षा सलाहकार कुलदीप सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि राज्य के पांच घाटी वाले जिलों में 12 घंटे और पड़ोस के पहाड़ी जिलों में 10 और घंटे के लिए कर्फ्यू में ढील दी गई है. उन्होंने कहा कि बाकी के दूसरे छह पहाड़ी जिलों में कर्फ्यू नहीं लगाया गया है. इसके साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग-37 से आवश्यक वस्तुओं की आपर्ति सुनिश्चित की गई है. उन्होंने कहा कि गुरुवार को इंफाल से जिरीबाम के लिए करीब 294 खाली वाहनों को रवाना किया गया है. इसके अलावा, आवश्यक वस्तुओं से लदे 220 वाहनों नोनी से रवाना किया गया है. उन्होंने कहा कि जिरीबाम से 198 टैंकर और ट्रकों को भी रवाना किया गया है.

संवेदनशील इलाकों में कैंप लगाए हैं वरिष्ठ अधिकारी

कुलदीप सिंह ने आगे कहा कि राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिंसाग्रस्त संवेदनशील इलाकों का दौरा किया. वहीं, कई वरिष्ठ अधिकारी किसी अप्रिय घटना के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों में कैंप भी लगाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि सभी संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. इसके अलावा, राज्य और केंद्रीय बलों की संयुक्त टीम ने राज्य के कई हिस्सों में तलाशी अभियान तेज कर दिया है.

मणिपुर के मंत्री और विधायक भी कर रहे दौरा

उन्होंने कहा कि मणिपुर सरकार के मंत्री और विधायक राज्य के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं और बड़े पैमाने पर जनता और सीएसओ से मिलकर शांति और सामान्य स्थिति बहाल करने की अपील कर रहे हैं. वे सुरक्षा बल, सीएसओ और विभिन्न गांवों के ग्राम प्रधानों के साथ बैठकें आयोजित कर रहे हैं. इन बैठकों में वे शांति और सामान्य स्थिति की अपील कर रहे हैं. इसके अलावा क्षेत्र में गश्त भी लगाए जा रहे हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.