Share Market: नये साल में शनिवार को भी खुलेगा बाजार, जानें लाइव सेशन में ट्रेडिंग का क्या है मतलब

9

Share Market: साल 2024 में वित्त और आम जिंदगी से जुड़े हुए कई बदलाव होने वाले हैं. मगर, वित्त जगत में सबसे ज्यादा चर्चा इस बात की है कि जनवरी के तीसरे शनिवार को भारतीय शेयर बाजार खुला रहने वाला है. इसके साथ ही, ट्रेडिंग भी होने वाली है. बताया जा रहा है कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) डिजास्टर रिकवरी साइट (DR Site) पर स्विच करने से पहले टेस्टिंग के लिए 20 जनवरी, 2024 (शनिवार) को बाजार में एक विशेष लाइव ट्रेडिंग सत्र आयोजित करने की योजना बनायी है. ट्रेडिंग सत्र दो सत्रों में होगा. पहला सत्र 20 जनवरी को सुबह 9:15 बजे से 10:00 बजे तक और दूसरा सत्र सुबह 11:30 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक होगा. एनएसई ने कहा है कि यह बिजनेस कंटिन्यूटी प्लान (BCP) और डिजास्टर रिकवरी साइट के ढांचे के संबंध में 26 मार्च,2019 के सेबी परिपत्र सेबी/एचओ/एमआरडी/डीएमएस1/सीआईआर/पी/2019/43 के संदर्भ में है. बाजार के इक्‍व‍िटी और इक्‍व‍िटी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में मौजूदा साइट से ड‍िजास्‍टर र‍िकवरी साइट पर स्‍व‍िच क‍िया जाएगा. इसमें इंट्रा-डे स्‍व‍िच के साथ ही स्‍पेशल ट्रेड‍िंग सेशन होगा.

क्या है एनएसई का पूरा सर्कुलर

एनएसई ने अपने सर्कुलर में कहा कि बाजार में पहला स्पेशल सेशन 45 मिनट और दूसरा ट्रेडिंग सेशन 60 मिनट का होगा. इससे साथ ही, प्री ओपनिंग सेशन नियम अनुसार, 15 मिनट पहले शुरू होगा. प्राथमिक साइट से डीआर साइट पर स्विच करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. उस दिन सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक एनएसई क्लियरिंग उपलब्ध नहीं होगी. प्राइमरी से डीआरएस में स्विच सेबी के नियमों और विनियमों के तहत किया जा रहा है. विशेष ट्रेडिंग का प्रारंभिक सत्र प्राथमिक वेबसाइट पर होगा, जिसमें सुबह का ब्लॉक डील विंडो सत्र सुबह 8:45 से 9 बजे तक होगा, और प्री-ओपन सत्र सुबह 9 से 9:08 बजे तक होगा. सामान्य ट्रेडिंग सत्र सुबह 9:15 बजे से 10 बजे तक शुरू होगा, कॉल नीलामी इलिक्विड सत्र सुबह 9:30 बजे से 9:45 बजे तक होगा. दूसरा विशेष ट्रेडिंग सत्र डीआर साइट पर सुबह 11:15 बजे से होगा, इसके बाद 11:23 से 12:30 बजे तक सामान्य ट्रेडिंग होगी. डीआर साइट पर समापन सत्र दोपहर 12:40 बजे से 12:50 बजे तक शुरू होगा, और बाजार बंद होने की घंटी दोपहर 1 बजे बजाई जाएगी. बीएसई ने कहा कि विशेष ट्रेडिंग सत्र केवल शेयर बाजार में इक्विटी और इक्विटी डेरिवेटिव सेगमेंट के लिए लागू होगा. चर्चा है कि इस विशेष व्यापारिक सत्र को आयोजित करने के पीछे मुख्य उद्देश्य अप्रत्याशित घटनाओं से निपटने के लिए स्टॉक एक्सचेंजों की तैयारियों की जांच करना है जो उनके संचालन को प्रभावित कर सकते हैं, जो उन्हें निर्धारित पुनर्प्राप्ति समय में डिजास्टर रिकवरी साइट पर स्विच करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं.

Zerodha ने बतायी ये बात

ऑनलाइन ब्रोकिंग फर्म जीरोधा (Zerodha)ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा कि शनिवार, 20 जनवरी 2024 को, एनएसई और बीएसई इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में विशेष लाइव ट्रेडिंग सत्र आयोजित करेंगे. दो सत्र होंगे; पहला प्राइमरी प्लेटफॉर्म से और दूसरा एक्सचेंजों के डिजास्टर रिकवरी साइट से. फर्म ने बताया कि लाइव ट्रेडिंग सेशन में कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. इस दौरान स्पेशल सेशन में सिक्योरिटीज के लिए अपर और लोअर सर्किट की सीमा 5 फीसदी तक होगी. इस दौरान ऐसे स्टॉक भी शामिल होंगे जो F&O सेगमेंट में कारोबार करते हैं. जिन सिक्योरिटी में पहले से 2 फीसदी की ऊपरी और निचली सर्किट सीमा है, उनमें 2 फीसदी की सीमा जारी रहेगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.