Share Market: मार्केट में आयी पैसे की बाढ़, अकेले टाटा ने कमाया 32,730.22 करोड़, जानें कैसे रहेगा ये सप्ताह

41

Share Market: ग्लोबल मार्केट में मिले जुले रुख के बीच पीते सप्ताह भारतीय बाजार में निवेशकों के उतार-चढ़ाव से भरा रहा. अमेरिकी फेडरलबैंक के ब्याज, डॉलर में तेजी और कच्चे तेल की कीमतों ने सीधे बाजार को प्रभावित किया. वहीं, समझा जा रहा है कि इस सप्ताह व्यापक आर्थिक आंकड़े, वैश्विक रुझान और विदेशी निवेशकों के रुख से शेयर बाजार प्रभावित होगा. विश्लेषकों ने कहा कि इसके अलावा टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और इंफोसिस जैसी प्रमुख आईटी कंपनियों के तिमाही नतीजों पर भी बाजार की नजर रहेगी. वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड और रुपये की चाल भी कारोबार को प्रभावित करेगी. इस बीच पिछले सप्ताह बाजार की 10 सबसे बड़ी कंपनियों में से पांच का संयुक्त बाजार मूल्यांकन पिछले सप्ताह 86,234.73 करोड़ रुपये बढ़ गया. इसमें टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) सबसे अधिक लाभ में रही. टाटा के बाद लाभ का स्वाद एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर और बजाज फाइनेंस ने भी चखा. जबकि, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक, आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक और भारती एयरटेल के शेयरों में गिरावट हुई.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

स्वस्तिक इन्वेस्टमार्ट लिमिटेड के वरिष्ठ तकनीकी विश्लेषक प्रवेश गौड़ ने कहा कि सभी की निगाहें चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के कॉरपोरेट नतीजों पर होगी. टीसीएस के नतीजे 11 अक्टूबर को और एचसीएल टेक्नोलॉजीज तथा इंफोसिस के नतीजे 12 अक्टूबर को आएंगे. उन्होंने कहा कि बाजार प्रतिभागियों की नजर डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों पर भी रहेगी. विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) का रुख भी बाजार को प्रभावित करेगा. उन्होंने कहा कि समीक्षाधीन सप्ताह में व्यापक आर्थिक मोर्चे पर भी महत्वपूर्ण घोषणाएं होनी हैं. इसके तहत 12 अक्टूबर को अगस्त के लिए औद्योगिक उत्पादन और विनिर्माण उत्पादन के आंकड़े जारी किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि सितंबर के लिए मुद्रास्फीति दर की घोषणा की जाएगी, जिससे देश की आर्थिक सेहत के बारे में जानकारी मिलेगी. इसके अलावा 13 अक्टूबर को सितंबर के लिए थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़े आएंगे. कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड के इक्विटी शोध (खुदरा) प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा कि बाजार आगामी तिमाही नतीजों से आगे के संकेत लेगा. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि इस सप्ताह से कारोबारियों की नजर आईटी और बैंकिंग क्षेत्रों के तिमाही नतीजों पर रहेगी.

बाजार पूंजीकरण 86,234.73 करोड़ रुपये बढ़ा

देश की शीर्ष 10 सबसे मूल्यवान कंपनियों में पांच का संयुक्त बाजार मूल्यांकन पिछले सप्ताह 86,234.73 करोड़ रुपये बढ़ गया. पिछले हफ्ते बीएसई सेंसेक्स 167.22 अंक या 0.25 फीसदी चढ़ गया. इस दौरान टीसीएस का बाजार मूल्यांकन 32,730.22 करोड़ रुपये बढ़कर 13,24,649.78 करोड़ रुपये हो गया. बजाज फाइनेंस ने 21,697.96 करोड़ रुपये जोड़े, जिससे उसका मूल्यांकन बढ़कर 4,94,884.37 करोड़ रुपये हो गया. इंफोसिस का मूल्यांकन 18,057.94 करोड़ रुपये बढ़कर 6,13,655.04 करोड़ रुपये और हिंदुस्तान यूनिलीवर का मूल्यांकन 7,730.16 करोड़ रुपये बढ़कर 5,87,104.12 करोड़ रुपये हो गया. एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 6,018.45 करोड़ रुपये बढ़कर 11,63,164.31 करोड़ रुपये हो गया. दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज का मूल्यांकन 19,336.49 करोड़ रुपये घटकर 15,68,216.88 करोड़ रुपये और आईसीआईसीआई बैंक का मूल्यांकन 4,671.54 करोड़ रुपये घटकर 6,62,057.43 करोड़ रुपये रह गया. हालांकि, रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बनी रही. भारतीय स्टेट बैंक का बाजार पूंजीकरण 4,105.33 करोड़ रुपये घटकर 5,30,211.19 करोड़ रुपये और आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 2,743.6 करोड़ रुपये घटकर 5,51,463.84 करोड़ रुपये रह गया. भारती एयरटेल का बाजार मूल्यांकन 196.19 करोड़ रुपये घटकर 5,19,082.95 करोड़ रुपये रह गया.

(भाषा इनपुट के साथ)

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.