SEBI जल्द Intraday Trading के नियम में कर सकता है बदलाव, जानें क्या हो सकता है नया नियम

5

क्या है सेबी

SEBI का मतलब भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड है. यह भारत में प्रतिभूति बाजारों की देखरेख के लिए जिम्मेदार नियामक प्राधिकरण है. सेबी की स्थापना 12 अप्रैल 1992 को एक स्वायत्त निकाय के रूप में की गई थी और यह भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र में संचालित होता है. सेबी का प्राथमिक उद्देश्य निवेशकों के हितों की रक्षा करना और प्रतिभूति बाजार के विकास और विनियमन को बढ़ावा देना है. सेबी को स्टॉक एक्सचेंजों, दलालों, व्यापारी बैंकरों और अन्य मध्यस्थों सहित प्रतिभूति बाजार के विभिन्न क्षेत्रों को विनियमित करने और देखरेख करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. सेबी प्रतिभूति बाजार में निष्पक्ष और पारदर्शी लेनदेन सुनिश्चित करके निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए काम करता है. यह निवेशक जागरूकता और शिक्षा बढ़ाने के उपायों को बढ़ावा देता है. सेबी विभिन्न बाजार मध्यस्थों, जैसे स्टॉकब्रोकर, पोर्टफोलियो प्रबंधक, निवेश सलाहकार और क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों को पंजीकृत और विनियमित करता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.