पाकिस्तान को विदेश मंत्री जयशंकर की खरी-खरी, कहा- आतंकवाद के पीड़ित उसके साजिशकर्ताओं के साथ नहीं बैठते

10

विदेश मंत्री ने कहा कि बिलावल एससीओ सदस्य देश के विदेश मंत्री के रूप में भारत आए और यह बहुपक्षीय कूटनीति का हिस्सा है. उन्होंने कहा, “इसमें इससे ज्यादा कुछ मत देखिए. तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे पर जयशंकर ने कहा कि यह स्पष्ट किया गया था कि संपर्क प्रगति के लिए अच्छी है, लेकिन यह राष्ट्रों की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता का उल्लंघन नहीं कर सकता है. उन्होंने कहा कि बिलावल से एससीओ सदस्य राष्ट्र के एक विदेश मंत्री के अनुरूप व्यवहार किया गया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.