‘सनातन धर्म’ मामले पर उदयनिधि घिरे तो पिता एम के स्टालिन ने बीजेपी को यूं दिखाया आईना

5

जहां एक ओर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन के बेटे उदयनिधि के द्वारा ‘सनातन धर्म’ पर की कई टिप्पणी को लेकर बवाल मचा हुआ है. वहीं दूसरी ओर स्टालिन ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर विरोधी दलों के नेतृत्व वाली राज्य सरकारों के खिलाफ प्रतिशोध की भावना रखने और उनकी संप्रभुता को नष्ट करने का आरोप लगाया है. दरअसल, पॉडकास्ट श्रंखला ‘स्पीकिंग फॉर इंडिया’ के अपने पहले संबोधन में उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अपनी कठोर गतिविधियों के माध्यम से पूरे देश को तबाह करने का प्रयास कर रही है.

द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) अध्यक्ष ने अपने भाषण में कहा कि सामाजिक न्याय, धर्मनिरपेक्ष राजनीति, समाजवाद, समानता, सामाजिक सद्भाव, राज्यों की स्वायत्तता, संघवाद, विविधता में एकता जैसे पहलू जिस भारत में अपनी पूरी महिमा के साथ पनपते हैं वही असली भारत है. एक अद्वितीय भारत…उन्होंने कहा कि मौजूदा बीजेपी नीत केंद्र सरकार, विरोधी दलों वाले राज्य सरकारों के खिलाफ सिर्फ प्रतिशोध की भावना से काम कर रही है. वे सिर्फ और सिर्फ राज्य सरकारों की संप्रभुता को नष्ट करना चाहते हैं, उन राज्य सरकारों को जो जनता के कल्याण के लिए सीधे जिम्मेदार हैं.

‘इंडिया’ गठबंधन बचाने जा रहा है देश को

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने आगे कहा कि विपक्षी दलों के गठबंधन इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस यानी ‘इंडिया’ का गठन उन पहलुओं पर भारत को फिर से खड़ा करने के लिए किया गया है, जिन पर वह फलता-फूलता था. उन्होंने कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन देश को बचाने जा रहा है. पटना, बेंगलुरु और मुंबई में आयोजित गठबंधन की बैठकों के संदर्भ में स्टालिन ने कहा कि अगर हमें समूचे भारत को मणिपुर और हरियाणा बनने से रोकना है तो ‘इंडिया’ गठबंधन को जीताना ही होगा. ये राज्य दुर्भाग्यवश बीजेपी की सांप्रदायिक राजनीति और नफरत फैलाने वाली नीतियों का शिकार हुए हैं.

यह अकेले एम के स्टालिन की नहीं बल्कि ‘इंडिया’ की है आवाज

सीएम स्टालिन ने कहा कि चलिए एक बहु-सांस्कृतिक और विविध भारत का निर्माण करें. चलें भारत को बचाएं. इसके लिए सबसे पहले भारत की बात करें. उन्होंने कहा कि यह अकेले एम के स्टालिन की नहीं बल्कि ‘इंडिया’ की आवाज है. सीएम ने कहा कि सुनिश्चित करें कि मेरी आवाज भारत में हर एक आवाज बने. चलिए ‘इंडिया’ को असली विजेता बनाएं. स्टालिन ने दावा किया कि बीजेपी भारत के मूल ढांचे को नुकसान पहुंचाने और एकता की भावना को नष्ट करने की कोशिश कर रही है, जिसे भारतीयों ने इतने लंबे समय तक संजोया और संरक्षित किया है.

उन्होंने कहा कि 2014 में सत्ता में आई बीजेपी अपने चुनाव पूर्व वादों को पूरा करने में विफल रही, विशेष रूप से विदेशों में जमा काले धन को वापस लाने, हर भारतीय को 15 लाख रुपये देने, हर साल 2 करोड़ लोगों को रोजगार की गारंटी देने, किसानों की आय दोगुनी करने, हर भारतीय के लिए घर सुनिश्चित करने और देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने जैसी जन कल्याण योजनाओं के संबंध में…उन्होंने कहा कि बीजेपी शासन के जल्द ही 10 साल होने जा रहे हैं और उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया है.

एम के स्टालिन के बेटे ने क्या कहा

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने दावा कि केंद्र की बीजेपी सरकार अपनी सभी कमियों को छिपाने के लिए धर्म को अपने हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रही है और लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़का रही है. आपको बता दें कि तमिलनाडु में सत्तारूढ़ डीएमके की युवा इकाई के सचिव व राज्य के मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने गत शनिवार को चेन्नई में एक कार्यक्रम में विवादित बयान दिया जिसके बाद से बीजेपी हमलावर है. उन्होंने सनातन धर्म को समानता व सामाजिक न्याय के खिलाफ बताया और कहा कि इसका उन्मूलन किया जाना चाहिए. सनातन धर्म की तुलना कोरोना वायरस, मलेरिया व डेंगू वायरस व मच्छरों से होने वाले बुखार से की. कहा कि ऐसी चीजों का विरोध नहीं करना चाहिए, बल्कि इन्हें समाप्त कर देना चाहिए. आरोप लगाया कि सनातन ने लोगों को जातियों के आधार पर बांटा है.

भाषा इनपुट के साथ

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.