नेहरू-आंबेडकर पर पोस्ट कर बुरे फंसे सैम पित्रोदा, बीजेपी ने कांग्रेस पर लगाया गंभीर आरोप, जानें पूरा मामला

6

इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा अपने सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर एक बार फिर से विवादों में हैं. इस बार उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और संविधान के जनक डॉ भीमराव आंबेडकर को लेकर पोस्ट कर चर्चा में आ गए हैं. हालांकि जैसे ही विवाद बढ़ने लगा, पित्रोदा ने अपना सोशल मीडिया पोस्ट डिलीट कर लिया. लेकिन बीजेपी ने उनपर हमला करना जारी रखा.

सैम पित्रोदा ने क्या किया था पोस्ट

दरअसल एक सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता और स्तंभकार, ‘म्यूजिक ऑफ द स्पिनिंग व्हील: महात्मा गांधीज मेनिफेस्टो फॉर द इंटरनेट एज’ के लेखक सुधींद्र कुलकर्णी ने नेहरू और आंबेडकर को लेकर एक लेख लिखा है. जिसमें लिखा गया है कि संविधान और इसकी प्रस्तावना में नेहरू ने अधिक योगदान दिया, अंबेडकर ने नहीं. इसी लिंक को सैम पित्रोदा ने एक्स पर शेयर किया था. हालांकि जब विवाद गहराया, तो पित्रोदा ने अपना पोस्ट डिलीट कर लिया.

बीजेपी ने कांग्रेस पर आंबेडकर का अपमान करने का लगाया आरोप

पित्रोदा के पोस्ट पर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कांग्रेस पर आंबेडकर का अपमान करने का आरोप लगाया. पूनावाला ने कहा, कांग्रेस की आंबेडकर और दलित विरोधी सोच है, वह एक बार फिर से सामने आई है. कांग्रेस के पास अंबेडकर-विरोधी, दलित विरोधी डीएनए है. राहुल गांधी के चाचा सैम (सैम पित्रोदा) ने संविधान में अंबेडकर के योगदान पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया. ये शब्द सैम पित्रोदा के हो सकते हैं, लेकिन इसके पीछे की भावना सोनिया और राहुल गांधी की है. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा, कांग्रेस अंबेडकर विरोधी और एससी विरोधी है, और यह बार-बार साबित हो रहा है. यह वही कांग्रेस है, जिसने नेहरू के शासनकाल के दौरान अंबेडकर को दो बार चुनाव हराया था. यह वही कांग्रेस है जिसने अंबेडकर को भारत रत्न देने में देरी की थी.

बसपा ने भी कांग्रेस पर बोला हमला

सैम पित्रोदा के पोस्ट को लेकर बसपा सांसद मलूक नागर ने भी कांग्रेस पर हमला किया. उन्होंने कहा, अगर कोई बाबा साहेब आंबेडकर को निशाना बनाता है, तो उसे बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा, मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि कांग्रेस को क्या हो गया है. एक तरफ, जब चुनाव की बात आई तो वे हिंदू बन गए, जबकि दूसरी ओर उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन करने से इनकार कर दिया. पित्रोदा के पोस्ट पर कांग्रेस को देश से माफी मांगनी चाहिए.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.