RTGS की सुविधा अब 24X7 मिलेगी, कॉन्टेक्टलेस पेमेंट 2 हजार रुपये की जगह 5 हजार कर पाएंगे: RBI गवर्नर

0 74


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज कहा कि रियल-टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) के माध्यम से पैसे ट्रांसफर की सुविधा अगले कुछ दिनों में शुरू हो जाएगी। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक में शक्तिकांता दास ने कहा, ‘आरटीजीएस सिस्टम को अगले कुछ दिनों में 24X7 बनाया जाएगा।’

आरटीजीएस सिस्टम मुख्य रूप से ज्यादा पैसे के लेनदेन के लिए है। यह रियल टाइम के आधार पर होता है। RTGS के माध्यम से भेजी जाने वाली न्यूनतम राशि 2 लाख रुपये है, जिसकी कोई अधिकतम सीमा नहीं है। इस ट्रांसफर में लाभार्थी बैंक से लेनदेन करने पर तुरंत पैसे ट्रांसफर करने का निर्देश प्राप्त होता है और पैसा तुरंत पहुंच जाता है। मौजूदा समय में RTGS ग्राहकों के लिए हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर, सप्ताह के सभी कार्य दिवसों में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक उपलब्ध है।

सुरक्षित तरीके से डिजिटल भुगतान को अपनाने के बारे में उन्होंने कहा कि 1 जनवरी से कार्ड और यूपीआई के माध्यम से लेनदेन को 2,000 रुपये से बढ़ाकर 5,000 रुपये तक लेनदेन किया जा सकता है।

क्या है कॉन्टेक्टलेस पेमेंट

अगर आप कहीं से कुछ खरीदारी करते हैं और आपके पास कॉन्टेक्टलेस कार्ड है तो आप बिना पिन के भी पेमेंट कर सकते हैं। इसके लिए आपको PoS मशीन में कार्ड डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी। फर्ज कीजिये अगर आप किसी दुकान पर कुछ खरदीने गए हैं और खरीदारी के बाद पेमेंट के समय आप पिन भूल जाते हैं तो ऐसे वक्त में आपको इस सुविधा का लाभ मिल जाएगा। इस ट्रांजेक्शन को कॉन्टेक्टलेस पेमेंट कहते हैं।


जुलाई 2019 से RBI ने देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से NEFT और RTGS के माध्यम से लेनदेन पर शुल्क लगाना बंद कर दिया है।

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने रेपो दर को 4 फीसद पर अपरिवर्तित रखने का निर्णय लिया है। रेपो वह दर है जिस पर RBI जरूरत पड़ने पर वाणिज्यिक बैंकों को पैसे उधार देता है। रिवर्स रेपो दर वह दर है जिस पर RBI बैंकों से उधार लेता है।