‘लक्ष्मण’ Sunil Lahri बोले- रामायण कोई कॉमिक्स बुक नहीं है, जो उसके पात्रों को जैसे मन आए वैसे प्रस्तुत करेंगे

49

रामानंद सागर निर्मित रामायण आगामी तीन जुलाई से शेमारु टीवी पर दस्तक देने जा रहा है. इस शो में लक्ष्मण की भूमिका निभाने वाले सुनील लाहिरी रामायण के ऑन एयर जाने को बेहद खास करार देते हुए कहते हैं कि मौजूदा दौर में आदिपुरुष की रिलीज के बाद रामानंद सागर के रामायण का प्रसारण बेहद जरूरी हो गया है. सभी एक बार फिर से सभी देखें और समझें कि रामायण कैसा होना चाहिए. उर्मिला कोरी से हुई बातचीत.

रामायण जल्द ही शेमारु टीवी पर दस्तक देने जा रहा है, क्या फीलिंग है?

मेरे लिए यह हमेशा ही बहुत ही गर्व का पल होता है कि लोग फिर से उस शो से जुड़ेंगे और हमारे काम को पसंद करेंगे.

लॉकडाउन में रामायण की क़ामयाबी के मायने कितने खास थे?

बहुत खास थे. अक्सर ये बातें सुनने को मिलती थी कि रामायण उस वक़्त हिट हुआ था, जब दर्शकों के मनोरंजन के लिए कोई ऑप्शन नहीं था, लेकिन लॉकडाउन में रामायण की क़ामयाबी ने बहुत कुछ साबित कर दिया. उस वक़्त ओटीटी प्लेटफार्मस में कंटेंट की भरमार थी, लेकिन लोगों ने रामायण को फिर से पसंद किया. खासकर मौजूदा पीढ़ी भी.

मौजूदा दौर में रामायण को मिली प्रसिद्धि काम के ऑफर्स में कितनी बदली है?

मुझे हमेशा कुछ ना कुछ ऑफर आते रहे हैं, लेकिन मैं कुछ भी नहीं कर सकता हूं. रामायण में लक्ष्मण की भूमिका निभाने के बाद ही मैंने ये तय कर लिया था कि परदे पर कुछ अच्छा मिलेगा तो ही करूंगा. हाल ही में मैंने एक फ़िल्म को साइन किया है, लेकिन फिलहाल उस पर ज़्यादा बात नहीं कर सकता हूं.

आपने आदिपुरुष देखी है क्या?

मैं बिना देखें, सुनी सुनायी बातों पर बात करना पसंद नहीं करता हूं. मैंने आदिपुरुष देखी है तभी ये बात कह रहा हूं कि लोगों को रामानंद सागर निर्मित रामायण को देखने की जरूरत है.

क्या मेकर्स को अब रामायण पर प्रोजेक्ट बनाना बंद कर देना चाहिए?

मैं ऐसा नहीं मानता हूं. बनना चाहिए, लेकिन हमारी आस्था का ख्याल रखते हुए. आप हनुमान जी को जीन्स टीशर्ट नहीं पहना सकते हैं. भगवा रंग की अनदेखी आप कैसे कर सकते हैं. आपको सभी बातों को ध्यान में रखना होगा. रामायण कोई कॉमिक्स बुक नहीं है, जो उसके पात्रों को आप जैसे मन आए वैसे प्रस्तुत करेंगे.

ओम राउत ने कृति सेनन को किस किया था, उस पर भी काफी विवाद हुआ था?

मैंने उस पर अपनी प्रतिक्रिया दे दी थी कि मुझे उसमें कोई बुराई नहीं दिखी थी. माता सीता के लिए नहीं, बल्कि साथ में काम कर रही सहभागी के लिए वह व्यवहार था.

ऑफ स्क्रीन आपका व्यवहार अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया के साथ कैसा रहा है?

मैंने हमेशा भाई और भाभी की तरह ही उनका सम्मान ऑफ़ कैमरा भी किया है. दीपिका जी के साथ शो खत्म होने के बाद ज़्यादा मुलाक़ात नहीं हो पायी, लेकिन अरुण गोविल जी के साथ रोजाना मिलना- जुलना जारी रहा है. हमने साथ में एक प्रोडक्शन कम्पनी भी शुरू की थी, कई बार मैं उनकी बातों से सहमत नहीं होता हूं, लेकिन मैं उनकी बात को ऐसे काट नहीं सकता. मैं बहुत शालीन ढंग से अपनी बात को रखता हूं कि वों समझें. मैं उनका बड़े भाई की तरह ही सम्मान करता हूं.

रामायण में लक्ष्मण की भूमिका निभाने के बाद प्रसिद्धि के साथ एक नैतिक जिम्मेदारी भी आपके कंधों पर आ गयी क्या उसका कभी दबाव महसूस हुआ?

मैंने कभी प्रेशर महसूस नहीं किया, क्योंकि निजी जिंदगी में मैं सिगरेट, शराब और दूसरी बुरी चीज़ों से दूर रहता हूं, तो मुझे निजी जिंदगी में कुछ ज़्यादा अलग खुद को दर्शाने के लिए मेहनत नहीं करनी पड़ी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.