Ram Mandir Wishes: हर जुबां पर एक ही नाम, जय श्रीराम-जय श्रीराम, सोशल मीडिया पर छाई ‘राम’ नाम की बधाई

0 105

नई दिल्ली, भारत के साथ-साथ दुनिया के कई हिस्सों में राम नाम की गूंज है। आज उत्तरप्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर का भूमि-पूजन किए जाना है। अब अवसर किसी बड़े त्योहार से कम नहीं है। देश के प्रधानमंत्री अयोध्या पहुंच रहे हैं। कई 100 साल बाद राम भक्तों का सपना सच होने जा रहा है। रामनगरी अयोध्या में यह रामकथा का नया अध्याय है, 492 वर्ष तक चली संघर्ष-कथा का अपना ‘उत्तरकांड’ है। अयोध्या तो न्यारी ही छटा में है। सड़कों के किनारे पीले रंगे मकान शुभ कार्य का संदेश दे रहे हैं। कोई घर ऐसा नहीं, जिस पर भगवा पताका न लहरा रही हो। सड़कों पर रंगोली सज रही है, कतारबद्ध किए जा रहे दीपक कल्पना को उसी समय में धकेल रहे हैं कि जब चौदह वर्ष का वनवास समाप्त कर प्रभु श्रीराम अपनी अयोध्या लौटे होंगे। ऐसे महान समय में भक्तों के साथ राजनेता भी काफी उत्साहित है।…और सोशल मीडिया पर राममय बधाई दे रहे हैं।

राम मंदिर पर नेताओं की प्रतिक्रिया:

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भूमिपूजन करेंगे। अयोध्या में होने वाले राम मंदिर के भूमिपूजन को लेकर शहर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं जो रामलला के दरबार में उपस्थित होंगे। बतौर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी का अयोध्या आना तो हुआ, पर रामलला के दर्शन का सुयोग नहीं बना। मोदी पांच अगस्त को प्रधानमंत्री रहते न केवल रामलला का दर्शन-पूजन करेंगे, बल्कि जन्मभूमि पर राम मंदिर की आधारशिला भी रखेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के पहले भी रामलला का दर्शन किया था।