‘खलासी’ प्रणाली को समाप्त करने की तैयारी में रेलवे, नही होंगी नई नियुक्तियां

0 90

नई दिल्ली, रेलवे बोर्ड ने फैसला किया है कि टेलीफोन अटेंडेंट सह डाक खलासियों की किसी भी नियुक्ति को तत्काल प्रभाव से संसाधित नहीं किया जाएगा। बोर्ड यह भी तय करता है कि 1 जुलाई, 2020 से ऐसी नियुक्तियों के लिए अनुमोदित सभी मामलों की समीक्षा की जाए और बोर्ड को सलाह दी जाए।

सबसे पहले तो बता दें कि रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के आवास पर काम करने वाले पियुन को खलासियों कहा जाता है। रेलेने इनकी नियुक्ति की औपनिवेशिक काल की प्रणाली को समाप्त करने की तैयारी कर रहा है। इस पद पर अब कोई नियुक्ति नहीं की जाएगी। इस संबंध में गुरुवार को रेलवे बोर्ड की तरफ से आदेश जारी कर दिया गया है।