सदन में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को घेरा, मणिपुर की इस महिला का बताया दर्द

10

Rahul Gandhi In Lok Sabha : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दूसरे दिन आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चर्चा में हिस्सा लिया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा कि मैं मणिपुर गया, लेकिन पीएम मोदी नहीं गये क्योंकि उनके लिए मणिपुर हिंदुस्तान नहीं है. आपकी सरकार ने मणिपुर को बांट दिया है. आज मणिपुर बचा नहीं है. राहुल गांधी ने कहा कि मणिपुर के लोगों की आवाज भारत माता की आवाज है, लेकिन आपलोगों ने भारत माता की आवाज नहीं सुनी.

इसके अलावा भी राहुल गांधी ने ने केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर कई गंभीर आरोप लगाए है. उन्होंने कहा, ‘आपलोगों ने भारत माता की हत्या की है. आप उनके रखवाले नहीं उनके हत्यारे हैं. आप वहां जबतक हिंसा नहीं रोकेंगे वहां भारत माता की हत्या होती रहेगी. लेकिन मोदी जी को भारत के आम लोगों की आवाज सुनाई नहीं देती है.’ साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी जी को सिर्फ दो लोगों की आवाज सुनाई देती है अमित शाह और अदाणी की. लंका को हनुमान ने नहीं उसके अहंकार ने जलाया था.

मणिपुर मामले पर उन्होंने कहा कि मैंने महिलाओं से बात की, बच्चों से बात की. एक महिला ने बताया कि मेरे छोटे से बच्चे को मेरे सामने गोली मार दी गयी. मैं पूरी रात उसके लाश के साथ रही. फिर मुझे डर लगा और मैंने अपना घर छोड़ दिया. दूसरी महिला से जब मैंने पूछा तुम्हारे साथ क्या हुआ- वह मेरे साथ कांपती हुई बेहोश हो गयी. साथ ही राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि मणिपुर में आपकी सरकार ने हिंदुस्तान की हत्या की है.

भारत जोड़ो यात्रा की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मैं हिंदुस्तान को अहंकार से देखने निकला था, वह कुछ ही दिन में निकल गया. मेरे घुटने में पुराना घाव था, जो मुझे चलने नहीं दे रहा था. लेकिन कुछ ही दिन में मेरा अहंकार चला गया. कुछ दिन में ऐसी घटनाएं होने लगी, जिन्होंने मुझे चलने की शक्ति दी. कभी आठ साल की बच्ची ने तो कभी किसान ने मुझे शक्ति दी. साथ ही उन्होंने अपने मणिपुर दौरे पर कहा कि मैं मणिपुर गया, पीएम मोदी नहीं गये.

आगे उन्होंने कहा कि उनके लिए मणिपुर हिंदुस्तान नहीं है. राहुल गांधी ने सत्ता पक्ष से कहा कि आपकी सरकार ने मणिपुर को बांट दिया है. आज मणिपुर बचा नहीं है. मैंने महिलाओं से बात की, बच्चों से बात की. अपने संबोधन की शुरुआत में राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के मित्रों को आज डरने की जरूरत नहीं है. मैं उनपर ज्यादा हमले नहीं करूंगा. पिछली साल मैंने समुद्र की तट से कश्मीर की बर्फीली पहाड़ियों पर यात्रा की थी.

उन्होंने कहा कि यात्रा अभी जारी रहेगी, यात्रा के दौरान कई लोगों ने मुझसे यह पूछा कि तुम यात्रा क्यों कर रहे हो, तुम्हारा लक्ष्य क्या है? शुरुआत में मेरे मुंह से जवाब नहीं निकलता था, शायद मुझे ही नहीं पता था कि मैंने यह यात्रा क्यों शुरू की थी. मैं यह समझता था कि हिंदुस्तान को जानना चाहता हूं. चीजों को समझना चाहता हूं, लेकिन गहराई से मैं नहीं समझ पा रहा था. लेकिन धीरे-धीरे मैं समझ गया कि जिस चीज के लिए मैं जान देने को तैयार हूं, मोदी जी की जेल में जाना चाहता हूं वो चीज है क्या?

अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत स्पीकर को धन्यवाद कहकर की. उन्होंने कहा कि आपने मेरी सदस्यता बहाल की इसके लिए आपको धन्यवाद. राहुल गांधी ने कहा कि पिछली बार मैंने आपको कष्ट पहुंचाया था. मैंने पिछली बार अदाणी जी को केंद्रित करके भाषण दिया था जिसकी वजह से बीजेपी के नेताओं को कष्ट पहुंचाया था. इस बार मैं अदाणी पर फोकस करके भाषण नहीं दूंगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.