छोटे से गांव से निकलकर प्रवीणा ने ऐसे जीता ब्यूटी क्वीन 2023’ का खिताब, जापान में करेगी भारत का प्रतिनिधित्व

6

उदयपुर संभाग के प्रतापगढ़ जिले की छोटी सादड़ी तहसील के केसुंदा गांव की रहने वाली प्रवीणा अंजना ने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में विगत 26 अगस्त को आयोजित ‘मिस डिवाइन ब्यूटी 2023’ के फाइनल में ‘मिस इंटरनेशनल इंडिया 2023’ का खिताब अपने नाम कर पूरे राजस्थान और देश का मान बढ़ाया है. वह 16 फाइनलिस्ट को कड़ी चुनौती देकर ब्यूटी पेजेंट का यह ताज हािसल करने में सफल रही हैं.

एक छोटे से गांव से निकलकर इस मुकाम तक पहुंचने वाली प्रवीणा उन बेटियों के लिए िमसाल पेश की है, जो मॉडलिंग के क्षेत्र में नाम कमाना चाहती हैं. कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच उनकी शालीनता और शिष्टता ने उन्हें अलग कर दिया, जिससे वह देश के लिए एक आदर्श राजदूत बन गयीं. सुरम्य शहर उदयपुर से ताल्लुक रखने वाली प्रवीणा की यहां तक पहुंचने की यात्रा किसी प्रेरणा से कम नहीं है. फैशन और सौंदर्य के प्रति अपने जुनून के बावजूद उन्होंने शुरुआत में चार्टर्ड अकाउंटेंट परीक्षा में उत्तीर्ण होकर अकाउंटेंसी में अपना करियर बनाया.

हालांकि, उनके दृढ़ संकल्प और सपनों ने उन्हें सौंदर्य प्रतियोगिताओं की दुनिया में कदम रखने के लिए प्रेरित किया. इस दौरान उन्होंने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और विभिन्न कॉलेज प्रतियोगिताओं में दिल जीता, जिससे उनकी उल्लेखनीय उपलब्धि की नींव पड़ी.

नौकरी के साथ जारी रखी ब्यूटी कॉन्टेस्ट की तैयारी

सीए पूरी करने के बाद प्रवीणा मुंबई में ही नौकरी करने लगीं. इसमें उन्हें लाखों का पैकेज भी मिल रहा था. फिर भी उन्होंने इस ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने के लिए काफी तैयारी की. नौकरी करने के साथ-साथ वह इसके लिए भी समय निकालती थीं, जो अपने आप में काफी मुश्किल था. ऑफिस में काम के दबाव के बावजूद अपने सपने को साकार करने में वह शिद्दत के साथ जुटी रहीं. हालांकि, इस साल जनवरी से पूरी तरह इसके लिए समर्पित हो गयीं. अंतत: उनकी मेहनत रंग लायी. आज ‘मिस इंटरनेशनल इंडिया’ का खिताब जीत कर उन्होंने देशवासियों को गौरवान्वित महसूस कराया है.

अगले माह जापान में करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व

मिस इंटरनेशनल इंडिया रही प्रवीणा की मानें, तो डिवाइन ग्रुप की ओर से होने वाले इस प्रतियोगिता का ‘मिस इंटरनेशनल’अक्तूबर में जापान में आयोजित होगा. उनका यह प्रयास रहेगा कि वह अपने देश के लिए यह खिताब हासिल करें और भारत का नाम रोशन करें. इसकी तैयारी उन्होंने अभी से शुरू कर दी है. वे कहती हैं, ‘‘दिल्ली में आयोजित इस कॉन्टेस्ट में 16 राज्यों की लड़कियों ने भाग लिया था. सभी लड़कियां अलग-अलग इंस्टीट्यूट से आयी थीं. सभी अपने-अपने सब्जेक्ट में महारत हासिल कर चुकी थीं, लेकिन मैंने ब्यूटी कॉन्टेस्ट में जैसी मैं हूं, वैसा ही खुद को प्रेजेंट करते हुए यह खिताब अपने नाम किया.’’

यूट्यूब पर वीडियो देख सीखा जवाब देना

ब्यूटी कॉन्टेस्ट की तैयारी के दौरान प्रवीणा ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर चलना, सवाल पूछना व जवाब देना आदि सीखा. जब फाइनलिस्ट में उनका नाम आया, तब उन्हें बिल्कुल सपने जैसा लग रहा था. मगर जब विनर चुना गया, तब लगा कि जो सपना देखा, वो अंतत: पूरा हुआ. वे कहती हैं, ‘‘ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हम जितना नेचुरल रहते हैं, उतना ही अच्छा है. यही मेरी ताकत साबित हुआ.’’

आर्टिकलशिप के दौरान स्पर्धाओं में बढ़चढ़ कर लेती थीं हिस्सा

प्रवीणा अंजना ने अपनी शुरुआती पढ़ाई स्थानीय स्कूल से की. इसके बाद उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई मध्य प्रदेश के नीमच जिले से पूरी की. फिर वह चार्टर्ड अकाउंटेंट की तैयारी के लिए वापस उदयपुर आ गयीं. पढ़ने-लिखने में होशियार प्रवीणा ने अपने पहले प्रयास में ही सीए की परीक्षा पास कर ली. इसके बाद वह आर्टिकलशिप के लिए मुंबई चली गयीं.

जिस तरह कॉलेजों में मिस फ्रेशर सहित अन्य कार्यक्रम होते हैं, उसी तरह आर्टिकलशिप के दौरान भी ऐसी प्रतियोगिताएं होती थीं. उन कार्यक्रमों में वह बढ़चढ़ कर हिस्सा लेती थीं, जिसमें वह विजेता भी रहीं. यहीं से इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली. हालांकि, पहले से कुछ इस तरह का इरादा नहीं था कि वह ब्यूटी क्वीन बनेंगी. बस एक मौका आया और वहां से यह खिताब मिल गया, लेकिन इससे पहले वह सीए पूरा करना चाहती थीं.

‘‘जब फाइनलिस्ट में उनका नाम आया, तब उन्हें बिल्कुल सपने जैसा लग रहा था. मगर जब विनर चुना गया, तब लगा कि जो सपना देखा, वो अंतत: पूरा हुआ. ’’

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.