postmortemKerala Secretariat Fire: सचिवालय के सामने भाजपा का विरोध प्रदर्शन, पुलिस ने चलाया वॉटर कैनन

0 104

 तिरुअनंतपुरम सचिवालय में आग लगने की घटना ने नाटकीय मोड़ ले लिया है। मंगलवार को प्रोटोकॉल विभाग में लगी आग को विपक्षी कांग्रेस और भाजपा ने सोना तस्करी मामले से संबंधित महत्वपूर्ण फाइलें नष्ट करने की साजिश का आरोप लगाया है। दूसरी तरफ, भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता सचिवालय के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। केरल सचिवालय के सामने विरोध प्रदर्शन करने के लिए जा रहे बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। कांग्रेस ने इस मामले की एनआइए से जांच कराने की मांग की है।

आग लगने की घटना के तुरंत बाद अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने सचिवालय परिसर में जबरन प्रवेश कर गिरफ्तारी दी। सुरेंद्रन ने गिरफ्तारी के बाद कहा कि सोने की तस्करी के मामले में उन फाइलों को जला दिया गया है, जो एनआईए और अन्य जांच एजेंसियों द्वारा मांगे गए थे। जब हम सच जानने के लिए वहां गए तो भाजपा नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

वहीं, विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी से मामले की जांच की मांग की। उन्होंने सचिवालय की आग को लेकर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा कि मंत्री के कृष्णकुट्टी के कार्यालय के पास आग लगी और वहां रखे तीन खंडपूरी तरह से नष्ट हो गए। सोन तस्करी मामले से संबंधित बहुत महत्वपूर्ण दस्तावेज भी इसनमें नष्ट हो गए हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इन फाइलों का कोई बैक-अप नहीं ह

अग्निशमन विभाग के सूत्रों ने बताया कि उनके कर्मियों को घटना के बारे में शाम 4:45 पर सूचित किया गया। तत्काल ही वहां पहुंचने पर कमरे में धुआं भरा पाया। प्रारंभिक जांच के अनुसार दीवार पर स्विच से आग लगी और फर्श पर फैल गई। कुछ फाइलें आंशिक रूप से जल गई। सरकारी सूत्रों ने कहा कि कोई भी महत्वपूर्ण फाइल नहीं जली है।