‘अगली हेल्थ इमरजेंसी से बचने के लिए तैयार रहें’, G20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में PM Modi ने कहा

20

G20 Health Ministers Meet : गुजरात के गांधीनगर में G20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक चल रही है. इस बैठक में जी-20 देशों के कई स्वास्थ्य मंत्री मौजूद है. यह बैठक तीन दिवसीय है. 17 से 19 अगस्त तक इस बैठक आयोजन होना है. ऐसे में 17 अगस्त को जी20 प्रतिनिधियों की बैठक हुई और 18 और 19 अगस्त को स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक है. इस बैठक को पीएम नरेंद्र मोदी ने डिजिटल माध्यम से संबोधित किया है. पीएम मोदी ने एक वीडियो संदेश भेजा है.

‘अगले स्वास्थ्य आपातकाल को रोकने के लिए तैयार रहना चाहिए’

अपने वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने कहा कि हमें अगले स्वास्थ्य आपातकाल को रोकने, तैयार करने और प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार रहना चाहिए. यह आज की परस्पर जुड़ी दुनिया में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है. आगे उन्होंने कहा कि भारत में, हम एक समावेशी और समग्र दृष्टिकोण का पालन कर रहे हैं, हम स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे का विस्तार कर रहे हैं, पारंपरिक प्रणाली को बढ़ावा दे रहे हैं चिकित्सा और सभी को सस्ती स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना.

‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का वैश्विक उत्सव समग्र स्वास्थ्य की सार्वभौमिक इच्छा का प्रमाण’

उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का वैश्विक उत्सव समग्र स्वास्थ्य की सार्वभौमिक इच्छा का एक प्रमाण है. अपने संदेश की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य जीवन का आधार है. साथ ही कोरोनाकाल को याद करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड19 महामारी ने हमें याद दिलाया है कि स्वास्थ्य हमारे निर्णयों के केंद्र में होना चाहिए. इसने हमें सहयोग का मूल्य दिखाया है. पीएम मोदी ने बैठक में मौजूद सभी लोगों का स्वागत भी किया.

‘वन अर्थ वन हेल्थ – एडवांटेज हेल्थकेयर इंडिया 2023’ कार्यक्रम

इससे पहले गुरुवार को केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने जानकारी देते हुए कहा कि भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र के नेतृत्व में 1.5 लाख से अधिक आयुष्मान भारत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों के माध्यम से सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. वह शुक्रवार को शुरू हुई जी20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक से पहले भारत की जी20 अध्यक्षता के तहत गांधीनगर के महात्मा मंदिर में आयोजित ‘वन अर्थ वन हेल्थ – एडवांटेज हेल्थकेयर इंडिया 2023’ कार्यक्रम के उद्घाटन पर बोल रहे थे.

भारत सर्वोदय के लक्ष्य की ओर लगातार आगे बढ़ रहा

केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने मुख्य वक्ता के तौर पर अपने संबोधन में कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, भारत सर्वोदय के लक्ष्य की ओर लगातार आगे बढ़ रहा है, 1,50,000 से अधिक स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों के साथ-साथ दुनिया की सबसे बड़ी सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य बीमा योजना, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल प्राप्त कर रहा है.’ साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हम वैश्विक स्वास्थ्य देखभाल पारिस्थितिकी तंत्र में योगदान देने के लिए भी लगातार प्रयास कर रहे हैं. आज भारत को विश्व की ‘फार्मेसी’ कहा जाता है.

भारत जेनेरिक दवाओं का सबसे बड़ा प्रदाता

आगे उन्होंने कहा कि वैश्विक आपूर्ति में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ भारत जेनेरिक दवाओं का सबसे बड़ा प्रदाता है. हम वैश्विक टीकों में भी लगभग 60 प्रतिशत का योगदान करते हैं. इस अवसर पर, मनसुख मांडविया ने ‘एडवांटेज हेल्थ केयर इंडिया – वन स्टॉप डिजिटल पोर्टल फॉर पेशेंट’ और ‘वर्कफोर्स मोबिलिटी’ पोर्टल लॉन्च किया. उन्होंने कहा कि यह (पोर्टल) आज स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र की कुछ सबसे गंभीर चुनौतियों का ठोस समाधान पेश करेगा.

‘देश में आज 13 लाख एलोपैथिक डॉक्टर, आठ लाख आयुष डॉक्टर’

भारतीय स्वास्थ्य प्रणाली के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि देश आज 13 लाख एलोपैथिक डॉक्टरों, आठ लाख आयुष डॉक्टरों और 34 लाख नर्सों और दाइयों के कार्यबल के साथ काम कर रहा है. उन्होंने कहा, “इस अत्यधिक योग्य और कुशल कार्यबल के माध्यम से, भारत कार्यबल गतिशीलता की एक संगठित प्रणाली में योगदान करने की योजना बना रहा है, जिसमें भारत के स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर वैश्विक समुदाय की सेवा के लिए दुनिया के विभिन्न हिस्सों की यात्रा करते हैं.”

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.