VIDEO: पीएम मोदी ने पी-20 समिट का किया उद्घाटन, कहा- ‘भारत लोकतंत्र की जननी’

16

PM Modi In Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में आयोजित पी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल हुए. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा है कि भारत ने जी-20 का शिखर सम्मेलन का सफलतापूर्वक आयोजन किया. आगे उन्होंने कहा कि समय के साथ भारत की संसदीय प्रक्रिया में सुधार हुआ है. आगे उन्होंने यह भी कहा कि हमारे ग्रंथों में सभाओं का जिक्र किया हुआ है. पीएम मोदी ने यहां अपने संबोधन के दौरान भारत को लोकतंत्र की जननी बताया है.

सम्मेलन के मद्देनजर यातायात दिशा-निर्देश जारी

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने शहर में 12 से 14 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले पी-20 शिखर सम्मेलन के मद्देनजर गुरुवार को यातायात दिशा-निर्देश जारी किये थे. पी-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन द्वारका के ‘इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर’ में किया जा रहा है. इस सेंटर को यशोभूमि के नाम से भी जाना जाता है. एक वरिष्ठ यातायात अधिकारी ने बताया, “लगभग 27 देशों से, वहां की संसद के स्पीकर और संसदीय प्रतिनिधि पी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं.

अलग-अलग होटलों में ठहरने की व्यवस्था

आगे उन्होंने बताया कि आने वाले सभी मेहमानों और गणमान्य व्यक्तियों के लिए अलग-अलग होटलों में ठहरने की व्यवस्था की गई है. ये प्रतिनिधि शिखर सम्मेलन के लिए यशोभूमि जाएंगे. उन्होंने कहा कि इन तीन दिनों तक अकबर रोड, सरदार पटेल मार्ग से धौला कुआं फ्लाईओवर, हवाई अड्डे के पास स्थित मेहराम नगर क्षेत्र, पालम फ्लाईओवर और दुलसिरस चौक पर सुबह सात बजे से रात दस बजे के बीच यातायात को नियंत्रित किया जाएगा.

सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने की सलाह

अधिकारी ने आगे कहा, “यात्रियों को किसी भी असुविधा से बचने के लिए सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने की सलाह दी जाती है. रेलवे स्टेशनों, अस्पतालों और आईएसबीटी जाने वाले यात्रियों को अपने मार्ग पर किसी भी देरी से बचने के लिए पर्याप्त समय लेकर निकलना चाहिए.” रूस की ‘फेडरेशन काउंसिल ऑफ फेडरल एसेम्बली’ की अध्यक्ष वेलेंटीना मतवियेंको की अगुवाई में एक रूसी प्रतिनिधिमंडल यहां संसद के अध्यक्षों के नौवें जी 20 सम्मेलन में शिरकत के लिए यहां पहुंचा है.

‘ एक धरती, एक परिवार , एक भविष्य के लिए संसद’

यह सम्मेलन यहां 13और 14 अक्टूबर को आयोजित होगा. इस कार्यक्रम का ध्येय वाक्य ‘ एक धरती, एक परिवार , एक भविष्य के लिए संसद’ है. इस कार्यक्रम के चार खंड हैं. रूसी प्रतिनिधिमंडल की यात्रा के कार्यक्रम में भारतीय नेताओं के साथ भेंटवार्ता भी शामिल है. नौवें जी20 संसदीय अध्यक्ष सम्मेलन के बाद संयुक्त बयान स्वीकार किये जाने की योजना है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.