संसद भवन पहुंची महुआ मोइत्रा, जानें आखिर क्यों आ गई निष्कासन की नौबत?

18
04121 pti12 04 2023 000042a
Mahua Moitra

संसद का शीतकालीन सत्र आज यानी चार दिसंबर से शुरू हुआ. आज के दिन को लेकर सबकी नजरें बनी हुई थी तृणमूल कांग्रेस से सांसद महुआ मोइत्रा पर. कैश फॉर क्वेरी मामले में उनपर आरोप लगे हुए है.

Mahua Moitra

ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही थी कि लोकसभा की आचार समिति की वह रिपोर्ट संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन यानी सोमवार को निचले सदन में पेश करेगी जिसमें महुआ मोइत्रा को ‘रिश्वत लेकर सवाल पूछने’ के मामले में सदन से निष्कासित करने की अनुशंसा की गई है. हालांकि, ऐसा नहीं हुआ. अब उम्मीद है कि यह मामला कल सदन के सामने रखा जाएगा.

04121 pti12 04 2023 000048a
Mahua Moitra

पहले के घटनाक्रम की अगर जानकारी दें तो सवाल के बदले पैसे लेने के मामले में लोकसभा एथिक्स पैनल के 6 सदस्यों ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ पेश रिपोर्ट का समर्थन किया है, जबकि 4 सदस्यों ने इसका विरोध किया. पैनल प्रमुख विनोद सोनकर ने इसकी जानकारी दी है.

Mahua Moitra

वहीं, सूत्रों का कहना है कि एथिक्स कमेटी ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा को लोकसभा से निष्कासित करने की सिफारिश की है. वहीं, पूरे मामले को लेकर सांसद महआ मोइत्रा का बयान आया है. महुआ मोइत्रा का कहना है कि भले ही वे मुझे निष्कासित कर दें, मैं अगली लोकसभा में बड़े जनादेश के साथ वापस आऊंगी.

04121 pti12 04 2023 000050a
Mahua Moitra

बता दें कि लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने ‘धन लेकर प्रश्न पूछने’ के मामले में तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा के खिलाफ आचार समिति की कार्रवाई को लेकर लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला को शनिवार को पत्र लिखकर निष्कासन को ‘अत्यंत गंभीर दंड’ करार दिया.

Mahua Moitra

साथ ही उन्होंने नियमों तथा संसदीय समितियों के कामकाज पर पुनर्विचार की मांग की. कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने चार पृष्ठों वाले अपने पत्र में कहा कि विशेषाधिकार समिति और आचार समिति के लिए उल्लेखित भूमिकाओं में कोई स्पष्ट सीमांकन नहीं है, विशेष रूप से दंडात्मक शक्तियों के प्रयोग के मामलों में.

04121 pti12 04 2023 000053a
Mahua Moitra

आरोप यह है कि महुआ मोइत्रा ने कैश और गिफ्ट के लिए अपने पदों का दुरुपयोग किया और पैसे के लिए पीएम मोदी और अडानी पर आरोप लगाए. साथ ही यह आरोप है कि हीरानंदानी समूह ने अडानी समूह के बारे में संसद में सवाल उठाने के लिए TMC को कथित तौर पर भुगतान किया था. आरोप है कि TMC सांसद ने 61 में से 50 सवाल हीरानंदानी और अडानी से जुड़े हुए पूछे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.