पीएम मोदी के सम्मान में पापुआ न्यू गिनी ने बदल डाली वर्षों की परंपरा, पहली बार हुआ ऐसा

7

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को पापुआ न्यू गिनी पहुंचे, जहां उनका भव्य स्वागत किया गया. पीएम मोदी के स्वागत में पापुआ न्यू गिनी ने अपनी परंपरा तक बदल डाली. यही नहीं सड़क किनारे सैकड़ों लोग तिरंगा लहराते हुए हर हर मोदी, घर घर मोदी के नारे लगाये. इसके साथ ही लोगों ने भारत माता की जयकारे भी लगाये. पीएम मोदी ने भारतीय मुल के लोगों से बात भी की.

मोदी के सम्मान में पापुआ न्यू गिनी ने बदल डाली परंपरा, पहली बार हुआ ऐसा

आमतौर पर पापुआ न्यू गिनी सूर्यास्त के बाद आने वाले किसी भी नेता का औपचारिक स्वागत नहीं करता है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के लिए यह अपवाद रहा और उनका औपचारिक स्वागत किया गया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट किया, एक महत्वपूर्ण दौरे की भव्य शुरुआत हुई है. प्रधानमंत्री मोदी पोर्ट मोरेस्बी पहुंचे. यह किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की पापुआ न्यू गिनी की पहली यात्रा है.

पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्स मारापे ने पीएम मोदी के पैर छुए

जापान में जी 7 देशों के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के बाद पीएम मोदी यहां पहुंचे. यह किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की पापुआ न्यू गिनी की पहली यात्रा है. पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्स मारापे ने हवाई अड्डे पर भारतीय प्रधानमंत्री का स्वागत किया, जिन्होंने सम्मान के तौर पर मोदी के पैर छुए.

पीएम मोदी को दी गयी 19 तोपों की सलामी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पापुआ न्यू गिनी में 19 तोपों की सलामी दी गयी. गार्ड ऑफ ऑनर के साथ औपचारिक स्वागत किया गया. विशेष सम्मान दिखाते हुए प्रधानमंत्री जेम्स मारापे ने हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री मोदी की अगवानी की. भारतीय समुदाय ने भी प्रधानमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया.

पीएम मोदी ने भव्य स्वागत के लिए जताया आभार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भव्य स्वागत के लिए आभार जताया. उन्होंने ट्वीट किया, पापुआ न्यू गिनी पहुंच गया हूं. मैं हवाई अड्डे पर आने और मेरा स्वागत करने के लिए प्रधानमंत्री जेम्स मारापे का आभारी हूं. यह आदर-सम्मान बहुत ही खास है, जिसे मैं हमेशा याद रखूंगा. मैं अपनी यात्रा के दौरान इस महान देश के साथ भारत के संबंधों को बढ़ावा देने के लिए उत्सुक हूं.

पीएम मोदी एफआईपीआईसी के तीसरे शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे

प्रधानमंत्री मोदी और मारापे सोमवार को एफआईपीआईसी के तीसरे शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे. शिखर सम्मेलन ऐसे समय में होगा, जब चीन इस क्षेत्र में अपने सैन्य और कूटनीतिक प्रभाव को बढ़ाने के प्रयास कर रहा है. एफआईपीआईसी का गठन 2014 में प्रधानमंत्री मोदी की फिजी यात्रा के दौरान किया गया था. एफआईपीआईसी शिखर सम्मेलन में 14 देशों के नेता भाग लेंगे. पीआईसी में कुक आइलैंड्स, फिजी, किरिबाती, मार्शल आइलैंड्स, माइक्रोनेशिया, नौरू, नीयू, पलाऊ, पापुआ न्यू गिनी, समोआ, सोलोमन आइलैंड्स, टोंगा, तुवालू और वानुआतु शामिल हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.