Onion Price: प्याज की कीमतों में लगेगी लगाम, सरकार ने तीन सप्ताह में 12 राज्यों में 36,250 टन ‘बफर’ प्याज बेचा

6

Onion Price: महंगाई की मार झेल रहे लोगों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा कई स्तरों पर काम किया जा रहा है. सरकार टमाटर के बाद अब प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश के लिए बफर स्टॉक से पिछले तीन सप्ताह के दौरान 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के थोक बाजारों में 36,250 टन प्याज मौजूदा दरों पर बिक्री के लिए जारी किया है. नेशनल कोऑपरेटिव कंज्यूमर फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (NCCF) और नेशनल एग्रीकल्चरल कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (नेफेड) को थोक और खुदरा बाजारों में बफर प्याज बेचने का आदेश दिया गया है. उन्हें इस साल बफर स्टॉक की तीन लाख टन की मौजूदा मात्रा को बढ़ाकर पांच लाख टन करने के लिए किसानों से अतिरिक्त प्याज खरीदने को भी कहा गया है. उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि सरकार थोक और खुदरा बाजारों में बफर स्टॉक का प्याज जारी कर कीमतों में अनुचित वृद्धि को रोकना चाहती है.

25 रुपये किलो बेच रही सरकार

रोहित कुमार सिंह ने कहा कि 11 अगस्त से थोक बाजारों में कुल 35,250 टन बफर प्याज जारी किया गया है. इसमें से एनसीसीएफ ने 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में 21,750 टन प्याज जारी किया है. उन्होंने बताया कि इन 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली, आंध्र प्रदेश, असम, तेलंगाना, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, चंडीगढ़ और केरल शामिल हैं. बफर स्टॉक से प्याज थोक बाजारों में मौजूदा दरों पर जारी किया जा रहा है, जबकि खुदरा बाजारों में इसे 25 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर जारी किया जा रहा है. सचिव ने कहा कि ये दोनों सहकारी समितियां आने वाले दिनों में दिल्ली और चुनिंदा स्थानों पर मोबाइल वैन के माध्यम से बफर प्याज की खुदरा बिक्री बढ़ाएंगी.

6 सितंबर से मोबाइल वैन से होगी बिक्री

उपभोक्ता मामलों के राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे छह सितंबर को रियायती दर पर प्याज की बिक्री के लिए एनसीसीएफ की मोबाइल वैन का शुभारंभ करेंगे. इस बीच, एनसीसीएफ और नेफेड ने अतिरिक्त दो लाख टन बफर प्याज की खरीद शुरू कर दी है. 22 अगस्त से अबतक करीब 24,000 टन प्याज सीधे किसानों से खरीदा जा चुका है. जिसमें से एनसीसीएफ ने 14,000 टन, जबकि नेफेड ने करीब 10,000 टन खरीदा है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में प्याज की औसत खुदरा कीमत सोमवार को 33.41 रुपये प्रति किलोग्राम थी, जो एक साल पहले की समान अवधि में 24.37 रुपये प्रति किलोग्राम से 37 प्रतिशत अधिक है. कोलकाता में प्याज 39 रुपये किलो, दिल्ली में 37 रुपये किलो, मुंबई और चेन्नई में 31 रुपये किलो उपलब्ध था. जबकि बिहार की राजधानी पटना में प्याजी की कीमत 35-40 रुपये किलो और झारखंड की राजधानी रांची में प्याज की कीमत 32-35 रुपये प्रतिकिलो है.

तीन लाख टन है सरकार का बफर स्टॉक

चालू वित्त वर्ष के लिए प्याज के बफर का लक्ष्य तीन लाख टन रखा गया है. इसकी खरीद पहले ही हो चुकी है. मौजूदा समय में, स्थानीय उपलब्धता में सुधार और मूल्य वृद्धि रोकने के लिए चुनिंदा राज्यों के लक्षित बाजारों में बफर स्टॉक का प्याज बाजार में लाया जा रहा है. भारतीय राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ (एनसीसीएफ) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (नेफेड) को प्रमुख उपभोग केंद्रों में खरीदे गए स्टॉक के सुनियोजित निपटान के साथ-साथ अतिरिक्त खरीद लक्ष्य प्राप्त करने के लिए एक-एक लाख टन की खरीद करने का निर्देश दिया गया है.

21 अगस्त से मिल रहा सस्ता प्याज

यदि कम आपूर्ति वाले मौसम के दौरान दरें काफी बढ़ जाती हैं, तो किसी भी आपात स्थिति को पूरा करने के लिए मूल्य स्थिरीकरण कोष (पीएसएफ) के तहत बफर स्टॉक बनाए रखा जाता है. बफर स्टॉक से प्याज के बाजार में लाये जाने के बारे में, मंत्रालय ने कहा था कि यह पहले ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के उन प्रमुख बाजारों में शुरू हो चुका है, जहां खुदरा कीमतें अखिल भारतीय औसत से ऊपर हैं और/या पिछले महीने की तुलना में काफी अधिक हैं. प्रमुख बाजारों में जारी करने के अलावा, बफर स्टॉक का प्याज 21 अगस्त से प्रमुख बाजारों में खुदरा दुकानों और एनसीसीएफ के मोबाइल वैन के माध्यम से खुदरा उपभोक्ताओं को 25 रुपये प्रति किलो की रियायती दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.