Odisha Train Accident: कैग ने सुरक्षा को लेकर किया था आगाह, ध्यान दिया जाता तो नहीं होता इतना बड़ा हादसा!

8

Odisha Train accident: ओडिशा में हुए इतने बड़े ट्रेन हादसे के बाद रेल मंत्रालय के साथ-साथ रेल मंत्री पर भी सवाल उठ रहे हैं. विपक्ष इस हादसे के बाद रेल मंत्री से इस्तीफा मांग रहा है. वहीं, निंदा करने वाले लोगों का कहना है कि हादसे के बाद रेलवे की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे हैं.एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक आलोचकों ने यह भी कहा है कि बीते साल सितंबर महीने में संसद में रेलवे की एक ऑडिट रिपोर्ट पेश की गई थी, जिसमें रेल सुरक्षा में कई गंभीर खामियां सामने आई थीं. गौरतलब है कि ओडिशा में हुए दिल दहला देने वाले हादसे में 275 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, हजारों लोग घायल हुए हैं जिनमें कईयों की हालत चिंताजनक है.

कैग ने अपनी रिपोर्ट में जताई थी चिंता
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने हादसे को लेकर कहा है कि हादसे की वजह रेलवे सिग्नल के लिए अहम उपकरण प्वाइंट मशीन और इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग प्रणाली है. उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग में किए गए उस बदलाव की पहचान कर ली गई है जिसके कारण यह हादसा हुआ. गौरतलब है कि साल 2022 के सितंबर में ही कैग (CAG) ने रेलवे की ऑडिट रिपोर्ट में कहा था कि रेल सुरक्षा में खामियां हैं.ऐसे में आलोचकों का कहना है कि अगर सही समय पर कैग की रिपोर्ट पर काम हुआ होता तो आज इतना बड़ा हादसा नहीं होता.

ट्रेन सुरक्षा को लेकर क्या थी कैग की रिपोर्ट
पिछले साल 2022 में भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) ने जारी की अपनी रिपोर्ट में रेल सुरक्षा को लेकर कहा था कि इसमें कई खामियां हैं. कैग ने पटरी से ट्रेन के उतरने को लेकर रिपोर्ट जारी किया था. अपनी रिपोर्ट में कैग ने कहा था कि रेल मंत्रालय यह पता करें कि ट्रेनों के पटरी से उतरने और टक्करों को रोकने के लिए क्या उपाय किए गए हैं और वो कितने कारगर हैं. कैग की रिपोर्ट के मुताबिक, रेलवे पटरियों की स्थिति आकलन करने के लिए आवश्यक ट्रैक रिकॉर्डिंग में 30 से 100 फीसदी की कमी आई है.

रिपोर्ट आने के बाद होगी विस्तार से बात

वहीं, घटना को लेकर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि इस भीषण घटना के कारण का पता चल गया है.रिपोर्ट आने के बाद इस पर विस्तार से बात की जाएगी. उन्होंने कहा कि हादसे के कारणों का पता चल गया है. इलेक्ट्रिक प्वाइंट मशीन त्वरित संचालन और प्वाइंट स्विच को लॉक करने के लिए रेलवे सिग्नल का महत्वपूर्ण उपकरण है.

क्या हैं इलेक्ट्रिक पॉइंट मशीन

रेल में हादसे की वजह इलेक्ट्रिक प्वाइंट मशीन को बता रहे हैं. दरअसल, इलेक्ट्रिक प्वाइंट मशीन त्वरित संचालन और प्वाइंट स्विच को लॉक करने के लिए रेलवे सिग्नल का एक अहम उपकरण है. यह उपकरण रेलगाड़ियों के सुरक्षित परिचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इन मशीनों के काम न करने की स्थिति में ट्रेन संचालन पर गंभीर असर पड़ता है और इन्हें लगाते समय हुई कमियों की वजह से असुरक्षित स्थितियां भी पैदा हो सकती हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.