ओडिशा और पंजाब ने नहीं लिया कोई फैसला, छत्तीसगढ़ सरकार कराएगी शराब की होम डिलीवरी.

0 163

नई दिल्ली,  देशव्यापी लॉकडाउन के तीसरे चरण में शराब की दुकानों को फिर से खोलने की छूट कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के अब तक के सभी प्रयासों पर भारी पड़ती दिख रही है। सोमवार की तरह आज भी सड़कों और दुकानों पर लोगों की बेतहाशा भीड़ देखने को मिल रही है। शराब लेने के लिए लोग इतने व्याकुल हैं कि उन्हें न अपनी परवाह है और न ही अपनों की। शारीरिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) के सारे इंतजाम और दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं। इस बीच कई राज्यों की सरकारें शराब की होम डिलावरी पर भी गौर कर रही हैं।

छत्तीसगढ़ में शराब की होम डिलीवरी

वहीं, छत्तीसगढ़ सरकार ने शराब प्रेमियों के लिए ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की है। राज्य के ग्रीन जोन एरिया में शराब की होम डिलीवरी की जाएगी। एक ग्राहक एक बार में 5000 ml तक का ऑनलाइन ऑर्डर कर सकता है, जिसकी डिलीवरी की कीमत 120 रुपये होगी।

पंजाब में अभी फैसला नहीं लिया

पंजाब में शराब के दुकानों को फिर से खलने की तैयारी हो रही है। दुकानदारों की मांग है कि सरकार शराब की होम डिलीवरी की परमिशन दे। इसको लेकर पंजाब के मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा ने कहा कि मैं इसके पक्ष में हूं कि शराब की दुकानें खुलनी चाहिए, लेकिन मैं ऑनलाइन डिलीवरी के खिलाफ हूं और चाहता हूं कि सीधे ठेके ही खुलें। कल या परसों कैबिनेट की बैठक होगी जिसमें ये फैसला हो जाएगा कि शराब की दुकानें खुलेंगी या नहीं।

 

दिल्ली के चंद्रानगर क्षेत्र में शराब की दुकान के बाहर लोगों की लंबी कतारें दिखीं। इसी बीच शराब लेने के लिए दुकान के बाहर खड़े लोगों का एक व्यक्ति फूल बरसाकर स्वागत करता दिखा। इस दौरान शख्स कह रहा था कि आप हमारे देश की अर्थव्यवस्था हैं, सरकार के पास पैसा नहीं है।

चाय पीते-पीते दुकानें खुलने का इंतजार

कर्नाटक में लॉकडाउन 3.0 में कुछ खास गाइलाइन्स के साथ शराब की दुकानें खोले जाने के दूसरे दिन भी लोगों की भीड़ कम नहीं हुई। आज भी दुकानों के बाहर कल जितनी भीड़ है। लोग लाइन में लगकर अखबार पढ़ रहे हैं तो कई चाय पीते-पीते दुकानें खुलने का इंतजार कर रहे हैं, तो कुछ लोग शराब की दुकान के बाहर नंबर लगाने के लिए अपनी जहग पर चप्पल, बोतल और बैग को रख रहे हैं।

शराब के शौकीनों के लिए बुरी खबर

दिल्ली में शराब के दाम में बढ़ोतरी के बावजूद बड़ी संख्या में लोग ठेकों के बाहर लाइन में दिख रहे हैं। शारीरिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) मेनटेन करने के लिए पुलिस को तैनात किया गया है। दिल्ली में मंगलवार से शराब महंगी हो गई है। अरविंद केजरीवाल की सरकार ने शराब पर स्पेशल कोरोना फीस लगाने का फैसला लिया है। यह फीस एमआरपी पर 70 फीसद लगेगी। यानी अब एक हजार रुपये की शराब की बोतल 1700 रुपये में मिलेगी।

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्विन और रेमडेसिविर के बीच तुलना सही नहीं: CSIR डीजी
हाइड्रोक्सी क्लोरोक्विन और रेमडेसिविर के बीच तुलना सही नहीं: CSIR डीजी
यह भी पढ़ें

यूपी-उत्तराखंड में भी महंगी होगी शराब

कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते राज्य सरकारों की कमाई को तगड़ा झटका लगा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सरकार, दिल्ली की तरह ही शराब पर विशेष कोरोना शुल्क लगाने की तैयारी कर रही है। कोरोना शुल्क से शराब डेढ़ गुने से अधिक महंगी हो सकती है। सरकारों का मानना है कि शराब महंगी करने का उसे विरोध भी नहीं झेलना पड़ेगा और कमाई भी बढ़ जाएगी। एक अधिकारी के मुताबिक यूपी में सोमवार को 100 करोड़ रुपये से अधिक की शराब की बिक्री दर्ज की गई है। वहीं. मंगलवार को शराब की दुकानों के बाहर लंबी कतार लगी हुई है।

पुलिस को करना पड़ा बलप्रयोग

बता दें कि 40 दिन शराब की दुकानें बंद रहने के बाद सरकार ने सोमवार को कई शर्तो के साथ इन्हें खोलने की अनुमति दी थी। सोमवार को दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, लखनऊ और अन्य शहरों में सरकारी ठेकों पर हजारों की संख्या में लोग जुट गए। कुछ जगहों पर तो हिंसा भड़कने तक की नौबत आ गई। इसे देखते हुए कई जगहों पर प्रशासन को शराब की दुकानें बंद करने का भी एलान करना पड़ गया। बढ़ती भीड़ के कारण कुछ जगहों पर पुलिस को बलप्रयोग भी करना पड़ा।