आपके मोबाइल खोने पर निगरानी करेगा ‘संचार साथी’ पोर्टल, जानें कैसे

20

नई दिल्ली : अगर आपका मोबाइल फोन खो गया है या फिर उसकी चोरी ही हो गई है, तो कोई बात नहीं. इसे लेकर आपको घबराने की जरूरत नहीं है. दूरसंचार विभाग ने मंगलवार को एक ऐसे पोर्टल की शुरुआत की है, जिसके जरिए आप न केवल अपने मोबाइल फोन की निगरानी कर सकते हैं, बल्कि जरूरत पड़ने पर आप अपने फोन नंबर को ब्लॉक भी कर सकते हैं. सबसे खास बात यह है कि खोया या चोरी गया आपका मोबाइल फोन आपके आसपास हो या भारत के किसी भी कोने में क्यों न हो, आप इस नए पोर्टल के जरिए उस पर कड़ी निगरानी रख सकते हैं. इस पोर्टल का नाम ‘संचार साथी’ है.

पुराने उपकरणों की भी कर सकते हैं जांच

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, दूरसंचार विभाग ने मंगलवार को संचार साथी पोर्टल की शुरुआत की. इसके जरिए लोग अब पूरे भारत में अपने खोए या चोरी हुए मोबाइल फोन की निगरानी कर सकते हैं. इस पोर्टल से फोन को ब्लॉक भी किया जा सकेगा. केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि संचार साथी पोर्टल के माध्यम से लोग पुराने उपकरणों को खरीदने से पहले उसकी सत्यता की जांच कर सकेंगे.

प्रवर्तन एजेंसी और दूरसंचार कंपनी से संपर्क करेगा पोर्टल

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि संचार साथी पोर्टल का पहला चरण सीईआईआर (केंद्रीय उपकरण पहचान रजिस्टर) है. यदि आपका मोबाइल फोन खो जाता है, तो आप इस पोर्टल पर जा सकते हैं. कुछ पहचान संबंधी सत्यापन करने होंगे और उसके तुरंत बाद पोर्टल कानून प्रवर्तन एजेंसियों और दूरसंचार कंपनी से संपर्क करेगा. आपके खोए हुए फोन को ब्लॉक कर दिया जाएगा.

36 लाख मोबाइल कनेक्शन बंद

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच है कि उपयोगकर्ता सुरक्षा पर बहुत ध्यान दिया जाए और संचार साथी पोर्टल इसी दिशा में उठाया गया कदम है. व्हॉट्सएप पर कॉल के जरिये धोखाधड़ी के मामलों की जांच के बारे में पूछने पर मंत्री ने कहा कि मेटा के स्वामित्व वाला ऐप धोखाधड़ी में शामिल किसी भी मोबाइल फोन नंबर से जुड़ी सेवाओं को निष्क्रिय करने पर सहमत हो गया है. उन्होंने कहा कि धोखाधड़ी के चलते 36 लाख मोबाइल कनेक्शन को बंद कर दिया गया है और साथ ही उनके व्हॉट्सएप खाते को ब्लॉक कर दिया गया है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.