गडकरी बोले- बच्चों को स्कूल में ही ट्रैफिक नियमों और सुरक्षित यात्रा के बारे में दी जाएगी जानकारी

51
02
नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, देश में हर साल सड़क दुर्घटना में हजारों लोगों को जान गंवानी पड़ती है.

नितिन गडकरी

सरकार सड़क सुरक्षा को लेकर जन-जागरूकता अभियान भी चलाती है. लेकिन अब केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने फैसला किया है कि बच्चों को स्कूली पाठ्यक्रम में ही ट्रैफिक नियमों और सुरक्षित यात्रा के बारे में जानकारी दी जा सके.

10
नितिन गडकरी

इस बाबत केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स(सियाम) और केंद्रीय विद्यालय संगठन के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया. इस समझौते के तहत केंद्रीय विद्यालय के छात्रों को सड़क सुरक्षा शिक्षा एवं जागरूकता की बाबत पढ़ाया जायेगा.

नितिन गडकरी

इस मौके पर अपनी आगामी सीरीज ‘गन्स एंड गुलाब’ पर अभिनेता राजकुमार राव ने कहा, मुझे लगता है कि उनकी (निर्माता राज और डीके) सोच, वे जो सामग्री बनाते और लिखते हैं वह लीक से हटकर है. यह बहुत अपरंपरागत है. कुछ ऐसा जो मुझे पसंद है. जब मैं कुछ नया और ताजा देखता हूं, तो मुझे बहुत खुशी होती है क्योंकि कोई कुछ ऐसा बनाने की कोशिश कर रहा है जो हमने पहले नहीं देखा है.

04
नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संसद में हाईवे पर ट्रकों और गाड़ियों को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाने के लिए एक नयी टेक्नॉलॉजी के बारे में जानकारी दी. दरअसल गडकरी से नॉमिनेटेडट सदस्य गुलाम अली ने एक्सीडेंट को लेकर सवाल पूछा, कश्मीर में सरकार काम तो कर रही है, लेकिन हाईवे पर ट्रक दुर्घटनाएं भी अधिक हो रही हैं.

नितिन गडकरी

एक्सिडेंट क्रैश बैरियर तो होता है, लेकिन ट्रक इतना बड़ा होता है कि टक्कर के बार न तो ट्रक का पता चलता है और न ही ड्राइवर का पता चलता है. इस सवाल पर गडकरी ने कहा, सच है कि पहाड़ी इलाकों में अधिक एक्सिडेंट होते हैं.

06
नितिन गडकरी

क्रैश बैरियर लोहे के बने होते थे, लेकिन अब नयी तकनीक आ गयी है. उन्होंने आगे बताया, नयी तकनीक में कंक्रीट में प्लास्टिक का एक गोल उपकरण लगा रहता है. इसमें ट्रक के टक्कर मारने पर वह नीचे नहीं गिरता, बल्कि पीछे की तरफ आ जाता है. इससे दुर्घटना को कम किया जा सकता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.