तब्लीगी जमात का मुखिया को लेकर नया खुलासा, मरकज की वेबसाइट पर डालता था भड़काऊ पोस्ट.

0 217

नई दिल्ली | देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर बड़ा संकट खड़ा करने वाला तब्लीगी जमात का मुखिया मौलाना मुहम्मद साद मरकज की वेबसाइट मरकजडॉटकॉम पर लगातार भड़काऊ पोस्ट डालता रहता था।

ऐसे में दिल्ली पुलिस क्राइम क्राइम ब्रांच को शक है कि ऐसे पोस्ट डालकर साद देश-विदेश के समुदाय विशेष के लोगों में कट्टरपंथ का बीज बो रहा था। दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद को भेजे चौथे नोटिस में पुलिस ने वेबसाइट के बारे में पूरी जानकारी मांगी है।

वहीं, सूत्रों के मुताबिक, नोटिस में वेबसाइट कौन चलाता था, इसका पासवार्ड आदि के बारे में जल्द जानकारी मुहैया कराने को कहा गया है। यह भी जानकारी मांगी गई है कि वेबसाइट कितने साल से चल रही थी। जमातियो के जरिये साद ने देश में जिस तरह से कोरोना का संक्रमण फैलाया। उससे सभी एजेंसियां अलग अलग तरीके से साद की कुंडलियों खंगलाने में लगी हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस से बचने के लिए मौलाना मुहम्मद साद और मरकज प्रबंधन से जुड़े 6 अन्य मौलाना 35 दिनों के भूमिगत है, लेकिन कोई भी एजेंसी इन्हे नहीं पकड़ रही है।

क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को फिर वकील के जरिये साद को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में जल्द से जल्द कोरोना की जांच करा रिपोर्ट सौंपने को कहा है। साद को बार-बार एम्स में जांच कराने को कहा जा रहा है, लेकिन वह वहां जांच कराने को तैयार नहीं है।

वहीं, मौलाना मुहम्मद साद के वकील दावा कर रहे हैं कि वह दिल्ली के जाकिर नगर में रह रहा है। उधर, मरकज की जांच करने वाली क्राइम ब्रांच की टीम में शामिल 5 पुलिसकर्मी अब तक कोरोना संक्रमित हो चुके है। 28 को क्वारंटाइन कर दिया गया है।